Advertisements

Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi / यार जादूगर pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi

 

 

 

पुस्तक का नाम Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi
पुस्तक के लेखक नीलोत्पल मृणाल 
भाषा हिंदी 
श्रेणी उपन्यास 
फॉर्मेट Pdf
साइज 83 Mb
पृष्ठ 125

 

 

 

Advertisements
Yaar Jadugar PDF
यहां से यार जादूगर pdf Download करें।
Advertisements

 

 

Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi
डार्क हार्स नावेल डाउनलोड करें
Advertisements

 

 

Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi
यहां से औगढ़ by nilotpal mrinal pdf Download करें।
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

केशरी पराग और केतकी को अपने साथ लेकर मोहनपुर गांव सूरज के घर चले अचानक ही अचानक ही अपने घर तीन लोगो को आया हुआ देखकर सूरज चौंक गए लेकिन वह केशरी को पहचानते थे इसलिए आश्वस्त होते हुए तीन लोगो की आवभगत में लग गए।

 

 

 

केशरी ने सूरज का परिचय पराग और केतकी से कराया और बातो ही बातो में कह दिया जिस तरह से आप लोग आभा को लेकर परेशान है कही पर भी बात नहीं बन रही है उसी प्रकार यह पराग भाई अपने लड़के कार्तिक के लिए भी परेशान है।

 

 

 

यह पराग भाई हमारे बुआ के लड़के है इनका कलकत्ता में बहुत बड़ा व्यापार है इनके पास बारह कपड़े की दुकाने है तथा एक कम्पनी भी है जिसमे कई लोग कार्य करते है जिसमे औरतो की संख्या अधिक है। सूरज ने पूछा औरतो की संख्या की अधिकता का कारण क्या है?

 

 

 

इस बात का उत्तर पराग ने दिया क्योंकि औरते अपने कार्य के प्रति पूरी निष्ठा रखती है और उनका पारिश्रमिक भी आदमियों की अपेक्षा कम रहने से भी कोई परेशानी नहीं रहती है। केशरी ने अब सूरज के बिषय में पराग को बताया कि यह हमारे परिचित मित्र है और आभा इनके छोटे भाई मानिक की एक मात्र संतान है।

 

 

 

मानिक कानपुर में गेहूं तथा अन्य कृषि उत्पाद के बहुत बड़े व्यापारी है इनका व्यापार मध्य प्रदेश के भोपाल और इंदौर तक फैला हुआ है।

 

 

 

आप दोनों का परिचय तो हमने करा दिया तथा आगे की दूसरी बातें आप लोग करे तो बेहतर है। अगर कही रुकावट हुई तो मैं उसमे हस्तक्षेप कर सकता हूँ अन्यथा आप लोग बात को आगे बढ़ाये।

 

 

 

सूरज ने अपनी भतीजी को बुलाया बड़ो का आदर सत्कार करने का संस्कार उसे बचपन से ही प्राप्त हुआ था। उसने केशरी पराग और केतकी का उचित सम्मान किया। केतकी ने ही बात को आगे बढ़ाते हुए पूछा बेटी आपने अभी तक अपना विवाह क्यों नहीं किया?

 

 

 

आभा बोली माता जी मैं तो विवाह के लिए तैयार हूँ कोई कन्या अपने मां बाप के आश्रित होकर कब तक रह सकती है? तो फिर कौन सा कारण है जो आपके विवाह में रुकावट पैदा कर रहा है।

 

 

 

आभा बोली माता जी हर लड़की का सपना होता है कि उसका होने वाला जीवन साथी किसी प्रकार का व्यसन न करता हो तथा अपनी मेहनत और लगन से तरक्की करते हुए सामाजिक योगदान करे।

 

 

 

लेकिन आज के इस आधुनिक युग में प्र्तेक व्यक्ति और लड़के दूसरे देश की नकल करते हुए आधुनिक बनने के लिए विवाह जैसे पवित्र बंधन को तार तार कर देते है और यही हमारे जैसी लड़कियों के विवाह में सबसे बड़ी बाधा है।

 

 

 

इतना ही नहीं इस आधुनिकता की दौड़ में युवक और युवतियो में संयम का सर्वथा अभाव है और संयम तथा संस्कार के अभाव में जब यथार्थ के धरातल पर उतरकर जिंदगी की कड़वी सच्चाई का सामना करना पड़ता है तब बिखरने के अलावा कोई रास्ता नहीं रह जाता है।

 

 

 

 

केतकी बोली ठीक है बेटी आपके विचार तो उत्तम है और हमारे बेटे कार्तिक के बिचारो से मेल खाते है। आभा बोली माता जी क्या आप मुझे कार्तिक को समझने के लिए आज्ञा प्रदान करेंगी। अगर हां में आपका उत्तर है तो इस कार्य के लिए आपको हमारा सहयोग करना पड़ेगा। आप हमसे कैसा सहयोग चाहती हो बेटी केतकी ने पूछा।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Yaar Jadugar Nilotpal Mrinal Pdf Hindi Download की तरह की दूसरी पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!