Whatsapp Kis Desh ka Hai ? व्हाट्सऐप कौन से देश का है ?

मित्रों आज इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे हैं कि Whatsapp Kis Desh ka Hai ? Whatsapp का प्रयोग भारत में बहुत अधिक होता है, लेकिन उनमे से अधिकतर लोग यह नहीं जानते है कि व्हाट्सऐप किस देश का है ? तो यह जानने के लिए यह पोस्ट जरूर पढ़ें।

 

 

 

Whatsapp Kis Country ka App Hai ? व्हाट्सऐप किस देश का है ? 

 

 

 

 

 

व्हाट्सअप एक ऐसा एप्लिकेशन एप है जिसमे किसी को भी ढेर सारी सामाग्री मिल जाती है। व्हाट्सएप के निर्माण कर्ता दो लोग है, जिनका नाम व्रायन एक्टन और जॉन कौम है और यह दोनों अमेरिकी नागरिक है।

 

 

 

 

व्हाट्सअप बनाने से पहले यह दोनों ‘याहू’ नामक कंपनी में 20 वर्ष तक नौकरी किए थे। लेकिन 2007 में यह दोनों ‘याहू’ कंपनी से अपनी नौकरी छोड़ दिया और ‘फेसबुक’ नामक कंपनी में काम की तलाश में गए।

 

 

 

 

लेकिन फेसबुक के मालिक ‘जुकर वर्ग’ की कंपनी ‘फेसबुक’ ने व्रायन एक्टन और जॉन कौम नामक दोनों युवको को अपने पास नौकरी देने से इंकार कर दिया और यही से व्हाट्सअप की नीव पड़ गई और उन दोनों युवको ने व्हाट्सअप को बनाने में अपने पास जमा पूंजी को खर्च कर डाला और दो साल के अथक प्रयास से 2009 में व्हाट्सअप दुनिया के सामने आ गया था।

 

 

 

Whatsapp Kis Desh ka Hai

 

 

 

 

फिर शनैः शनैः व्हाट्सअप की लोकप्रियता का शिखर आसमान छूने लगा। व्हाट्सअप की लोकप्रियता को देखते हुए गूगल ने व्हाट्सअप के मालिक व्रायन एक्टन और जॉन कौम को उनके बनाए एप को खरीदने का 10 मिलियन डालर का प्रस्ताव दिया था, लेकिन बात नहीं बनी थी।

 

 

 

 

 

उसके पश्चात् Facebok के मालिकमार्क जुकरबर्ग ने 19 फरवरी 2014 को 19 मिलियन डालर देकर व्हाट्सअप को अधिग्रहण कर लिया।

 

 

 

 

चाइनीज एप टिक-टॉक का विकल्प भारतीय एप 

 

 

 

अगर कोई भी अपने मन में ठान ले तो हर वस्तु का विकल्प तैयार कर सकता है। विश्व बिरादरी  में अपने इलेक्ट्रानिक उत्पाद से चाइना ने एकाधिकार जमा लिया था।

 

 

 

 

लेकिन धीरे-धीरे चाइना के उत्पाद को चुनौती मिलने लगी। उसी क्रम में एक अच्छे एप्लिकेशन भारतीय संस्करण उपलब्ध हो गया।

 

 

 

व्हाट्सअप का मुख्यालय और कंपनी 

 

 

 

व्हाट्सअप का मुख्यालय कैलिफोर्निया के माउंटेन व्यूमें है और यह स्थान अमेरिका देश में स्थित है और यह एप एक अमेरिकन कंपनी का एप है, जिसके मालिक का नाम जुकर वर्ग है।

 

 

 

 

जिन्होंने 2014 में अपनी कंपनी फेसबुक में व्हाट्सअप का विलय कर दिया है। जुकर वर्ग ने व्हाट्सअप को दो अमेरिकी युवको (व्रायन एक्टन, जॉन कौम) से फरवरी 2014 में खरीदकर इसे अपनी कंपनी फेसबुक में विलय कर दिया। अब व्हाट्सअप के मालिक भी जुकेरबर्ग  है।

 

 

 

 

व्हाट्सअप का विकल्प भारतीय एप 

 

 

 

एक भारतीय द्वारा प्रस्तुत किया गया यह 12 दिसंबर 2012 को दुनिया के सामने आया था। इस एप में व्हाट्सअप की तरह तमाम सुविधाए मौजूद है और वर्तमान समय में हाइक प्राइवेट लिमिटेड के आधीन है।

 

 

 

 

एक टेलीग्राम के नाम से एक एप प्रचलन में है इसे आप भारतीय एप समझने की भूल कदापि न करे क्योंकि यह एप जर्मनी का बना हुआ है।

 

 

 

 

इन देशों में बैन है Whatsapp

 

 

 

Whatsapp के बिना आज के समय में रहना मुश्किल है। अगर आपके पास स्मार्ट फोन है तो आपके मोबाईल में Whatsapp जरूर होगा।

 

 

 

 

मैसेज भेजने के लिए व्हाट्सऐप से बढ़िया और कोई App नहीं है। लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि चीन, नार्थ कोरिया, क्यूबा, ईरान, सीरिया में Whatsapp बंद है।

 

 

 

 

 

 

 

व्हाट्सऐप आज के समय शोसल नेटवर्किग का अहम हिस्सा बन गया है। अगर भारत की बात करे तो यहां लगभग 20 करोड़ से अधिक Whatsapp  के User है।

 

 

 

 

ब्रायन एक्टन और जॉन कॉम ने सन 2009 में Whatsapp की शुरुवात की। इसके पहले वे Yahoo जैसी बड़ी कंपनी में काम कर चुके थे।

 

 

 

 

नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने Facebook में नौकरी के लिए आवेदन किया लेकिन वहां से उनका आवेदन रिजेक्ट कर दिया गया।

 

 

 

 

इसके बाद उन्होंने 2009 में कॉम ने एक Iphone ख़रीदा और तब एक दिन उन्हें लगा कि आने वाले दिनों में एप्लीकेशन्स की आवश्यकता काफी अधिक होगी।

 

 

 

 

इसके बाद उन्होंने एक ऐसा एप्लीकेशन बनाने के लिए सोचा जो दोस्त रिश्तेदार या यूं कहे एक दूसरे से जुड़ने में सहायक हो। उसके बाद कॉम ने ब्रायन को इसके लिए तैयार किया।

 

 

 

 

लेकिन काम बड़ा था सो वे ब्रायन की मदद से Yahoo के 5 सहयोगियों को अपने साथ लाए और उसके बाद अपने रुसी दोस्त एलेक्स फिशमैन की मदद से एक रुसी डेवलेपर को ढूंढा।

 

 

 

 

उसका नाम इगोर सोलो मनिकोब था। उसके बाद एप्लीकेशन बनी और उसका नाम रोजाना प्रयोग किए जाने वाले शब्द “Whats up” के ऊपर Whatsapp रखा गया। यह नाम काफी यूनिक भी था और आसान भी।

 

 

 

 

उसके बाद व्हाट्सऐप को कई असफलताओ का सामना करना पड़ा और एक बार तो कॉम ने इसे बंद करने की सोची। लेकिन ब्रायन ने उन्हें प्रेरित किया और कॉम ने इसमें कई सारे बदलाव किए और उसके बाद ब्रायन ने 2500,000 डालर का निवेश किया और अधिकारिक रूप से जुड़ गए।

 

 

 

 

उसके बाद Whatsapp की सफलता शुरू हो गई और 2013 तक Whatsapp बहुत प्रसिद्ध हो चुका और Facebook ने इसे 19 विलियन डालर में खरीद लिया।

 

 

 

 

भारत आया Whatsapp का विजनेस ऐप 

 

 

 

भारत में Whatsapp का विजनेस ऐप आ चुका है। पहले इसे इंडोनेशिया, यूके, इटली, मैक्सिको और यू एस में उपलब्ध कराया गया। अब यह भारत में भीउपलब्ध है।

 

 

 

 

क्या है Whatsapp विजनेस ऐप के फीचर 

 

 

 

विजनेस ऐप की फीचर्स विजनेस प्रोफ़ाइल, मैसेजिंग टूल्स, मैसेजिंग स्टेटिस्टिक्स, व्हाट्सऐप वेब और अकाउंट टाइप जैसे फीचर्स है।

 

 

 

भारत लांच करेगा अपना देशी Whatsapp 

 

 

 

भारत में Whatsapp काफी लोकप्रिय है। यहां बहुत बड़ी संख्या में Whatsapp इस्तेमाल किया जाता है। इसे देखते हुए सरकार ने भी Whatsapp जैसे ऐप पर काम करना शुरू कर दिया है।

 

 

 

 

इस बात की जानकारी केंद्रीय सूचना और तकनीकी मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद जी ने दी है। उन्होंने बताया कि इसके लिए नेशनल इंफॉर्मेटिक्स सेंटर (NIC) और सेंटर फॉर डेवलेपमेंट ऑफ़ टेलीमैटिक्स (GDOT) मिलकर तैयार कर रही है।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Whatsapp Kis Desh ka Hai ? आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी और भी जानकारी के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Whatsapp Kis Desh ka Hai ? प्रश्नोत्तर 

 

 

1- Whatsapp Kaun Se Desh ki Company Hai?

 

Whatsapp अमेरिका देश की है। इसका मुख्यालय अमेरिका के कैलिफोर्निया में स्थित है। 

 

2- Whatsapp kon si Company ka Hai?

 

Whatsapp को मार्क जुकेरबर्ग ( फेसबुक के ऑनर ) ने 19 फरवरी 2014 को खरीद लिया।  अब व्हाट्सप्प भी फेसबुक का हिस्सा है। 

 

 

इसे भी पढ़ें —-

 

 

 

इसे भी पढ़ें —->भारत का क्षेत्रफल कितना है ?

 

इसे भी पढ़ें —->यदा यदा ही धर्मस्य मीनिंग हिंदी

 

 

 

Leave a Comment

स्टार पर क्लिक करके पोस्ट को रेट जरूर करें।