Advertisements

Tailoring Books Pdf in Hindi / सिलाई बुक हिंदी Pdf Download

Advertisements

मित्रों इस पोस्ट में Tailoring Books Pdf in Hindi दिया गया है। आप नीचे की लिंक से सिलाई बुक हिंदी Pdf Free Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Tailoring Books Pdf in Hindi सिलाई बुक हिंदी Pdf

 

 

 

 

 

Advertisements
Tailoring Books Pdf in Hindi
सिलाई शिक्षा बुक्स यहाँ से फ्री डाउनलोड करें।
Advertisements

 

 

Free Download Tailoring Books Pdf in Hindi
यहां से Tailoring Books Hindi डाउनलोड करे। 
Advertisements

 

 

Free Download Tailoring Books Pdf in Hindi
Home Tailoring Course Book Free Download
Advertisements

 

 

Free Download Tailoring Books Pdf in Hindi
यहां से Cutting and Tailoring books in Gujarati Pdf Free Download करे।
Advertisements

 

 

 

संगठन की शक्ति  Hindi Kahani

 

 

 

एक वन में एक बहुत ही बड़ा और क्रूर अजगर था. वह जब भी बिल से निकलता तो सारे जानवर डरकर भागने लगते. एक बार अजगर शिकार की तलाश में था.

 

 

 

अगल बगल के सारे जानवर भाग निकले थे. वह गुस्से से लाल हो गया और फुफकार मारने लगा और इधर उधर आहार की खोज करने लगा. वही नजदीक में एक हिरणी अपने नवजात बच्चों को पत्तियों के ढेर के नीचे छिपाकर भोजन की तलाश में गयी थी.

 

 

 

अजगर की तेज फुफकार से पत्तियां उड़ने लगी और हिरणी के बच्चे दिख गए. इतना भयानक जानवर देख हिरणी के बच्चे सहम गए और देखते ही देखते अजगर उन्हें निगल गया.

 

 

 

तब तक हिरणी भी आ गयी थी. वह बेचारी असहाय कर भी क्या सकती थी. उसे बड़ा ही दुःख हुआ. उसी जंगल में उसकी दोस्ती एक नेवले से थी. उसने नेवले को अपनी दुखभरी कहानी सुनाई.

 

 

 

 

इस पर वह बोला, ” बहन मेरा बस चलता तो अभी उस दुष्ट अजगर को मार डालता. लेकिन मैं क्या कर सकता हूँ. वह तो मुझे एक झटके में मार देगा. लेकिन वहीँ पास में चीटियों की एक बाम्बी है. वहाँ की रानी चींटी मेरी मित्र है. मैं उससे बात करता  हूँ. शायद वह कुछ करे.”

 

 

 

 

हिरणी निराश होकर बोली” तुम तो इतने बड़े जानवर होकर उसका कुछ नहीं कर सकते तो चींटी भला क्या कर पाएगी.” इस पर नेवला बोला ऐसी बात नहीं है.

 

 

 

चींटी के पास बहुत ही बड़ी सेना है और संगठन में बड़ी शक्ति होती है. नेवले की बात से हिरणी को आशा नजर आई. दोनों चींटी के पास पहुंचे और सारी कहानी बताई.

 

 

 

चींटी से कुछ देर सोचा और बोली, ” ठीक है. हम तुम्हारी सहायता करेंगे. उस दुष्ट अजगार को सजा मिलनी ही चाहिए. चींटी ने कहा हमारी बांबी के पास एक संकरीला नुकीला रास्ता है.तुम किसी तरह अजगर को उस रास्ते पर आने को मजबूर करो. बाकी काम हम कर लेंगे” नवाले को चींटी पर पूरा विश्वास था. वह तैयार हो गया.

 

 

 

 

अगले नेवला अजगर की बिल के पास और उसे बोली बोलकर उकसाने लगा. क्रोध में अंधा अजगर बिल से निकला. नेवला प्लान के मुताबिक़ उसी संकरे रास्ते की दिशा में दौड़ पड़ा.

 

 

 

 

अजगर भी पीछे चल पड़ा. अजगर जब रुकता तो नेवला उसे और गुस्सा दिलाता और क्रोध में अंधा अजगर फिर से उसे दौड़ाने लगता.इसी तरह नेवला उसे संकरे रास्ते पर आने को मजबूर कर दिया.

 

 

 

संकरे रास्ते से गुजरते ही अजगर की देह छिलने लगी. जब वह उस रास्ते से बाहर निकला तो उसका बदन्न काफी छिल गया था और काफी खून निकल रहा था.

 

 

 

तभी चींटियों की सेना ने अजगर पर हमला कर दिया. चींटियाँ उसके शारीर के नंगे मांस को काटने लगी. अजगर तड़प उठा. वह अपने शरीर को पटकने लगा और इससे उसे और भी घाव होने लगे और चींटियों ने हमला तेज कर दिया. कुछ ही देर में अजगर तड़प – तड़पकर पर गया.

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Tailoring Books Pdf in Hindi आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

इसे भी पढ़ें —-> हिंदी पीडीएफ बुक्स फ्री

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!