Advertisements

Shabar Tantra Shastra Pdf / शाबर तंत्र शास्त्र Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Shabar Tantra Shastra Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Shabar Tantra Shastra Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से पंचसिद्धांतिका Pdf Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

 

Shabar Tantra Shastra Pdf / शाबर तंत्र शास्त्र पीडीएफ

 

 

 

 

Advertisements
Shabar Tantra Shastra Pdf
यहां से शाबर तंत्र शास्त्र पीडीऍफ़ डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

पंचसिद्धांतिका Pdf Download
यहां से पंचसिद्धांतिका Pdf Download करे।
Advertisements

 

 

 

 

यहां से आई गिरी नंदिनी लिरिक्स इन हिंदी PDF डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Shabar Tantra Shastra Pdf
यहां से गोरखनाथ शाबर मंत्र Pdf Download करे।
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

 

दिशाओ के हाथी चिंघाड़ने लगे, पृथ्वी डोलने लगी, पर्वत चंचल होकर कांपने लगे और समुद्र खलबला उठे। गंधर्व, देवता, मुनि, नाग, किन्नर सब के सब मन में हर्षित हुए कि अब हमारे दुःख टल गए।

 

 

 

 

अनेक और कोटिक भयानक वानर योद्धा कटकटा रहे है और कोटिक ही दौड़ रहे है। ‘प्रबल प्रताप कोशलनाथ की जय हो’ ऐसा कहते हुए वह उनके गुण का गान कर रहे है।

 

 

 

 

उदार सर्पराज शेष जी उस सेना का भार नहीं सह सकते है। वह बार-बार मोहित होकर घबड़ा जाते है और पुनः कच्छप की कठोर पीठ को दांतो से पकड़ते है।

 

 

 

 

ऐसा करते हुए वह किस प्रकार शोभायमान होते है मानो श्री राम जी की परम सुंदर प्रस्थान यात्रा को सुहावनी जानकर उसकी अचल पवित्र कथा को सर्पराज शेष जी कच्छप की पीठ पर लिख रहे हो।

 

 

 

 

35- दोहा का अर्थ-

 

 

 

इस प्रकार कृपानिधान श्री राम जी समुद्र के तट पर जा उतरे। अनेको रीछ वानर वीर जहां-तहां फल खाने लगे।

 

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

वहां लंका में जब से हनुमान जी विध्वंस करके गए है तब से राक्षस भयभीत रहने लगे। अपने घरो में सब विचार करते है कि अब राक्षस कुल की रक्षा का कोई उपाय नहीं है।

 

 

 

 

जिसके दूत का बल वर्णन नहीं किया जा सकता उसके स्वयं नगर में आने पर कौन भलाई है। हम लोगो की बहुत बुरी दुर्दशा होगी? दूतो से नगरवासियो के वचन सुनकर मंदोदरी बहुत ही व्याकुल हो उठी।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Shabar Tantra Shastra Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!