Advertisements

Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf / पतंजलि जड़ी-बूटी रहस्य बुक Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से  पतंजलि योग दर्शन गीता प्रेस Pdf भी पढ़ सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf 

 

 

 

Advertisements
Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf
पतंजलि जड़ी-बूटी रहस्य बुक Pdf Download
Advertisements

 

 

Aushadh Darshan Book In Hindi Pdf
औषध दर्शन बुक Pdf Download
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

3- क्या स्वामी श्री राम जी छोटे भाई लक्ष्मण जी सहित मुझसे अपने सेवक की तरह मिलेंगे? मेरे मन में दृढ विश्वास नहीं होता क्योंकि मेरे मन में भक्ति वैराग्य या ज्ञान कुछ भी नहीं है।

 

 

 

 

4- मैं न तो सत्संग, योग अथवा जप ही किए है और न तो प्रभु के चरण कमल में मेरा दृढ अनुराग ही है। हां दया के भंडार प्रभु की एक बान है कि जिसे किसी दूसरे का सहारा नहीं होता है वह उन्हें प्रिय होता है।

 

 

 

 

5- भगवान की इस बान का स्मरण आते ही मुनि आनंदमग्न होकर मन में कहने लगे। अहा! भव बंधन से छुड़ाने वाले प्रभु के मुख़ार बिन्द को देखकर आज मेरे नेत्र सफल होंगे। शिव जी कहते है कि हे भवानी! ज्ञानी मुनि प्रेम में पूर्ण रूप से निमग्न है उनकी दशा कही नहीं जाती है।

 

 

 

 

 

6- उन्हें दिशा विदिशा और रास्ता कुछ भी नहीं सूझ रहा है। मैं कौन हूँ और कहां जा रहा हूँ यह भी नहीं जानते, इन्हे इसका भी ज्ञान नहीं है। वह कभी पीछे घूमकर फिर आगे चलने लगते है और कभी प्रभु के गुण गान करते हुए नाचने लगते है।

 

 

 

 

7- मुनि ने प्रगाढ़ प्रेम की भक्ति प्राप्त कर ली है। प्रभु श्री राम जी वृक्ष की आड़ में छिपकर देख रहे है। मुनि का अत्यंत प्रेम देखकर भवभय को हरने वाले श्री रघुनाथ जी मुनि के हृदय में प्रकट हो गए।

 

 

 

 

8- हृदय में प्रभु के दर्शन पाकर मुनि बीच रास्ते में अचल होकर बैठ गए। उनका शरीर रोमांच से कटहल के फल हो गया। तब रघुनाथ जी उनके पास चले आये और अपने भक्त की प्रेम दशा देखकर मन में बहुत प्रसन्न हुए।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Patanjali Jadi-Buti Rahasya Book Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!