Advertisements

Paramahansa Yogananda Books PDF Hindi / परमानंद योगानंद बुक्स PDF

Advertisements

Paramahansa Yogananda Books PDF मित्रों यह परमानंद योगानंद बुक्स है।  आप इसे यहां से फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Paramahansa Yogananda Books PDF Hindi परमानंद योगानंद बुक्स PDF

 

 

 

Advertisements
Paramahansa Yogananda Books PDF Hindi
Ek Yogi ki Atmakatha in Hindi PDF Download
Advertisements

 

 

 

Paramahansa Yogananda Books PDF Hindi
मानव की निरंतर खोज
Advertisements

 

 

 

Paramahansa Yogananda Books PDF Hindi
पंचकोश विवेक 
Advertisements

 

 

 

 

Paramahansa Yogananda Very Short Biography in Hindi 

 

 

 

योगानंद सर्वप्रथम भारतीय थे, जिन्होंने अपने कार्य को पश्चिम में विस्तार किया। उन्होंने सम्पूर्ण अमेरिका में यात्राएं की उन्होंने अपना जीवन लेखन और विश्वव्यापी कार्य को दिया।

 

 

 

 

 

परमहंस योगानंद का जन्म का नाम ( मुकुंद लाल घोष ) था, और इनका जन्म 5 जनवरी 1893 को हुआ था, और इनका देहावसान 7 मार्च 1952 को हुआ था।

 

 

 

 

 

इसी बीच इन्होने अपने संगठन आत्म साक्षात्कार फ़ेलोशिया, योगदा सत्संग के माध्यम से लाखों लोगों को क्रिया योग की शिक्षा दी। योगानंद बंगाली योग गुरु स्वामी युक्तेश्वर गिरी के मुख्य शिष्य थे। योगानंद के अनुसार ईश्वर से साक्षात्कार की एक प्रभावी विधि है।

 

 

 

 

 

जिसके पालन करने से अपने जीवन को अवश्य ही संवारा जा सकता है और परमात्मा की ओर अग्रसर हुआ जा सकता है। अमेरिकी योग आंदोलन में लांस एंजिल्स की ओर से योग में उनके योगदान के प्रभाव को देखते हुए उन्हें योग विशेषज्ञों द्वारा “पश्चिम में योग के जनक” के रूप में मान्यता दिया।

 

 

 

 

 

योगानंद को 1927 में अमेरिका के राष्ट्रपति “केल्विन कुलीज” द्वारा सम्मानित पहले प्रमुख भारतीय थे। 1920 में वह वोस्टन गए और 1925 में एक सफल “ट्रांस कांटिनेटल” स्पीकिंग टूर शुरू किया था।

 

 

 

 

 

योगानंद ने कैलीफोर्निया में अपने संगठन का विस्तार करने के लिए सम्पत्ति ख़रीदा और आश्रम का निर्माण कराया, उसमे हजारों लोगों को क्रिया योग की दीक्षा दी गयी।

 

 

 

 

 

 

उनके सादे जीवन और उच्च विचार के सिद्धांतों ने काफी लोगों को प्रभावित किया था। आज उनके संगठन समूहों की संख्या अमेरिका में लगभग हर जगह और हर शहर में मौजूद है।

 

 

 

 

क्रिसमस की ख़ुशी Hindi Kahani

 

 

 

स्कूल में मास्टर सभी बच्चो को पढ़ा रहे थे। तभी चपरासी ने उन्हें एक नोटिस पकड़ा कर चला गया। मास्टर ने सभी बच्चो को तीन दिन की छुट्टी क्रिसमस के लिए बताया।

 

 

 

 

सभी बच्चे बहुत खुश थे। हैरी ने अपने साथी जॉनी मारिया और दीपक से कहा, “पिछले क्रिसमस पर कैसे उसे सांताक्लाज ने साइकल लाकर दिया था और सभी दोस्तों को अपने घर पर आमंत्रित किया था।”

 

 

 

 

लेकिन जानी मारिया और दीपक ने हैरी से अपने घर आने के लिए कह दिया था क्योंकि सभी मिलकर बहुत बड़ा क्रिसमस ट्री बनाने वाले थे।

 

 

 

 

दीपक अपने घर जाकर अपने माता-पिता से बोला, “इसबार हम सब मिलकर एक बड़ा क्रिसमस ट्री बनाने वाले है। उसमे हमारा दोस्त हैरी भी शामिल होगा।”

 

 

 

 

सभी लोगो ने मिलकर बहुत ही सुंदर क्रिसमस ट्री बनाया था। तभी वहां सांताक्लाज आ गया। उसके साथ ढेर सारे उपहार थे। लेकिन हैरी को नहीं पाकर सभी दोस्त निराश थे।

 

 

 

 

सांताक्लाज ने सभी बच्चो को गिफ्ट दिया और जाने लगा तभी उसकी नकली दाढ़ी निकल कर गिर गई। सभी यह देखकर हैरान थे कि वह उनका प्यारा दोस्त हैरी था। जो सांताक्लाज बना हुआ था। सभी दोस्तों की खुशिया बढ़ गई थी।

 

 

 

मित्रों यह Paramahansa Yogananda Books PDF आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी जानकारी और बुक्स के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी जरूर करें।

 

 

 

 

1-  रबिन्द्र नाथ टैगोर बुक्स इन हिंदी

 

2- आनंदमठ पीडीएफ हिंदी फ्री डाउनलोड

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!