Om Namo Bhagavate Vasudevaya Namah Meaning Hindi

मित्रों इस पोस्ट में हम आपको Om Namo Bhagavate Vasudevaya Namah Meaning Hindi बताने जा रहे हैं। आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें। आपको बहुत जानकारी प्राप्त होगी।

 

 

 

Om Namo Bhagavate Vasudevaya Namah Meaning in Hindi

 

 

 

 

 

 

 

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय भगवान श्री कृष्ण का महामंत्र है। यह भगवान श्री नारायण के पंचरूप मंत्र में से एक है। यह मनुष्य का कल्याण करने वाला बहुत ही सरल विष्णु मंत्र (Vishnu Mantra) है।

 

 

 

इस मंत्र के जाप से ग्रह शांत होते है। अगर आप ग्रहो (Grah) से परेशान है तो किसी विद्वान से इस मंत्र का 1008 बार जप कराये और फिर हवन करके अनुष्टाहं संपन्न करे।

 

 

 

इस मंत्र के जाप से मनोकामना पूर्ण होती है और आपके हर कार्य सफल होते है। इस मंत्र के जाप से आपको एक अद्भुत ऊर्जा मिलती है।

 

 

 

 

Om Namo Bhagavate Vasudevaya Namah Meaning In Hindi 

 

 

 

 

ओम (Om) – यह ब्रह्मांडीय व लौकिक ध्वनि है।

नमो – नमस्कार।

भगवते –  शक्तिशाली, भगवान, दिव्य।

वासुदेवाय – भगवान जो सभी प्राणियों का जीवन है, भगवान श्री कृष्ण।

 

 

भगवान वासुदेव जो वासुदेव भगवान नर में से नारायण बने उन्हें मैं प्रणाम करता हूँ। जब वे नारायण हो जाते है तब वासुदेव कहलाते है।

 

 

 

भगवान विष्णु के पंचरूप मंत्र 

 

 

 

ॐ अं वासुदेवाय नमः

ॐ आं संकर्षणाय नमः

ॐ अं प्रद्युम्नाय नमः

ॐ अः अनिरुद्धाय नमः

ॐ नारायणाय नमः

 

 

 

विष्णु भक्त हिंदी कहानी 

 

 

 

नेहा और रीमा एक अच्छी सहेली थी। दोनों एक ही स्कूल में पढ़ती थी। नेहा विष्णु भगवान का परम भक्त थी। रीमा बहुत ही सुंदर थी। उसके बाल भी घुंघराले और लंबे थे। जिसके कारण उसे अपने बालो और खूबसूरती पर बहुत घमंड था। वह किसी की भी मदद नहीं करती थी।

 

 

 

 

जब भी कोई लड़की उससे उसकी सुंदरता के बारे में पूछती तो रीमा कहती, “जाकर कीचड़ से नहा लो बड़ी आई मेरे जैसी सुंदर बनने के वाली। मुझसे सुंदर कोई नहीं हो सकता।”

 

 

 

 

एक दिन उसके क्लास की एक लड़की रीमा के पास आई और उससे पूछने लगी, “तुम्हारे कितनी खुबसुरत हो। कौन सा क्रीम लगाती हो तुम ?”

 

 

 

 

रीमा उस लड़की का मजाक उड़ा ही रही थी कि नेहा वहां पहुंच गई। नेहा ने रीमा से कहा, “तुम यह अच्छा नहीं कर रही हो तुम्हे दुसरो का मजाक नहीं उड़ाना चाहिए”

 

 

 

 

 

इसपर रीमा ने कहा, “तुमसे मतलब मैं कुछ भी करू ?”

 

 

 

 

नेहा को रीमा की बात बहुत बुरी लगी। अब वह रीमा को सबक सीखने की सोचने लगी। वह विष्णु भगवान के मंदिर गई और कहने लगी, “हे भगवान मेरी सहेली का यह घमंड दूर कर दो।”

 

 

 

 

विष्णु जी ने रीमा को बदसूरत और बना दिया और बाल सबसे छोटे हो गए। रीमा जब दूसरे दिन स्कूल में पहुंची तो सभी छात्राए उसे देखकर हंसने लगे।

 

 

 

 

तभी नेहा वहां पहुँच गई और सभी छात्रो को वहां से भगा दिया और रीमा से कहने लगी, “देखा अपने घमंड का परिणाम। कल तुम जिसका मजाक बना रही थी वही लोग आज तुम्हारा मजाक बना रहे है।”

 

 

 

 

रीमा अपने किए पर पछताने लगी। उसने नेहा से कहा, “नेहा कोई उपाय बताओ जिससे मैं पहले की तरह हो जाऊ। अब मैं किसी का मजाक नहीं बनाउंगी।”

 

 

 

 

नेहा ने उससे कहा, “तुम हमारे साथ चलो और भगवान विष्णु की प्रार्थना करो।”

 

 

 

 

नेहा रीमा को लेकर विष्णु जी के मंदिर गई। वहां दोनों ने विष्णु जी से प्रार्थना किया। कुछ ही समय में रीमा फिर पहले के जैसी हो गई। अब उसका स्वभाव बदल चुका था। वह अब किसी का मजाक नहीं उड़ाती थी।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Om Namo Bhagavate Vasudevaya Namah Meaning Hindi आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब  करें और इसे शेयर भी करें और फेसबुक पेज को लाइक भी करें।

 

 

 

इसे भी पढ़ें —–>अभिज्ञान शाकुंतलम Pdf Free

 

 

 

 

Leave a Comment

स्टार पर क्लिक करके पोस्ट को रेट जरूर करें।