Advertisements

How To Talk To Anyone Pdf Hindi / किसी से बातचीत कैसे करे Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको How To Talk To Anyone Pdf Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से How To Talk To Anyone Ddf Hindi download कर सकते हैं और आप यहां से Satyarth Prakash Pdf Hindi कर सकते हैं।

Advertisements

 

 

 

How To Talk To Anyone Pdf Download

 

 

पुस्तक का नाम  How To Talk To Anyone Pdf Hindi
पुस्तक के लेखक  Leil Lowndes
फॉर्मेट  Pdf 
भाषा  हिंदी 
साइज  2.1 Mb 
पृष्ठ  194 
श्रेणी  आत्म सुधार 

 

 

 

Advertisements
How To Talk To Anyone Pdf Hindi
 How To Talk To Anyone Pdf Hindi Download यहां से करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Yashpal Ki Kahaniyan Pdf
देखा, सोचा, समझा हिंदी कहानी By यशपाल यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Yashpal Ki Kahaniyan Pdf
ओ भैरवी हिंदी कहानी यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Yashpal Ki Kahaniyan Pdf
धर्मयुद्ध हिंदी कहानी By यशपाल यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
how to talk to anyone pdf Hindi
You Can Sell in Hindi Pdf यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

अन्यथा मनुष्य रूप में प्रकट होने पर विषय में तुम अनजान ही बनी रहती। अब तुम दोनों दम्पति पुत्री भाव से अथवा दिव्य भाव से मेरा निरंतर चिंतन करते हुए मुझमे स्नेह रखो। इससे मेरी उत्तम गति प्राप्त होगी। मैं पृथ्वी पर अद्भुत लीला करके देवताओ का कार्य सिद्ध करुँगी।

 

 

 

ऐसा कहकर जगन्माता शिवा शांत हो गयी और उसी क्षण माता के देखते-देखते प्रसन्नता पूर्वक नवजात पुत्री के रूप में परिवर्तित हो गयी। ब्रह्मा जी कहते है – नारद! मेना के सामने महातेजस्विनी कन्या होकर लौकिक गति का आश्रय ले वह रोने लगी।

 

 

 

उसका मनोहर रुदन सुनकर घर की सभी स्त्रियां हर्ष से खिल उठी और बड़े वेग से प्रसन्नता पूर्वक वहां आ पहुंची। नील कमल दल के समान श्याम कांति वाली उस परम तेजस्विनी और मनोरम कन्या को देखकर गिरिराज हिमालय अतिशय आनंद में निमग्न हो गए।

 

 

 

तदनन्तर सुंदर मुहूर्त में मुनियो के साथ हिमवान ने अपनी पुत्री के काली आदि सुखदायक नाम रखे। देवी शिवा गिरिराज के भवन में दिनोदिन बढ़ने लगी। ठीक उसी तरह जैसे वर्षा के समय गंगा जी की जलराशि और शरद ऋतु के शुक्ल पक्ष में चांदनी बढ़ती है।

 

 

 

सुशीलता आदि गुणों से संयुक्त तथा बंधु जनो की प्यारी उस कन्या को कुटुंब के लोग अपने कुल के अनुरूप पार्वती नाम से पुकारने लगे। माता ने कालिका को उ मा कहकर तप करने से रोका था। मुने! इसलिए वह सुंदर मुख वाली गिरिराजनंदिनी आगे चलकर लोक में उमा के नाम से विख्यात हो गयी।

 

 

 

नारद! तदनन्तर जब विद्या के उपदेश का समय आया तब शिवा देवी ने अपने चित्त को एकाग्र करके बड़ी प्रसन्नता के साथ श्रेष्ठ गुरु से विद्या पढ़ने लगी। पूर्व जन्म की सारी विद्याये उन्हें उसी तरह प्राप्त हो गयी जैसे शरतकाल में हंसो की पांत अपने आप स्वर्गंगा के तट पर पहुँच जाती है और रात्रि में अपना प्रकाश स्वतः महौषधियो को प्राप्त हो जाता है।

 

 

 

मुने! इस प्रकार मैंने शिवा की किसी एक लीला का ही वर्णन किया है। अब अन्य लीला का वर्णन करूँगा सुनो। एक समय की बात है तुम भगवान शिव की प्रेरणा से प्रसन्नता पूर्वक हिमाचल के घर गए। मुने!  शिवतत्व के ज्ञाता और उनकी लीला के जानकारों में श्रेष्ठ हो।

 

 

 

नारद! गिरिराज हिमालय ने तुम्हे घर पर आया देख प्रणाम करके तुम्हारी पूजा की और अपनी पुत्री को बुलाकर  उससे तुम्हारे चरणों में प्रणाम करवाया। मुनीश्वर! फिर स्वयं ही तुम्हे नमस्कार करके हिमाचल ने अपने सौभाग्य की सराहना की और अत्यंत मस्तक झुका हाथ जोड़कर तुमसे कहा।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट How To Talk To Anyone Pdf Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और How To Talk To Anyone Pdf Hindi की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

Leave a Comment

Advertisements
error: Content is protected !!