Advertisements

Hindu Dharma Kosh Pdf / हिन्दू धर्म कोश Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Hindu Dharm Kosh Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Hindu Dharm Kosh Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से  50 + हिंदू धार्मिक पुस्तके Pdf Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Hindu Dharm Kosh Pdf / हिन्दू धर्म कोश पीडीएफ

 

 

 

हिन्दू धर्म कोश पीडीऍफ़ डाउनलोड 

 

Advertisements
Hindu Dharma Kosh Pdf
Hindu Dharma Kosh Pdf
Advertisements

 

जादू किताब Pdf Download

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

10- हे स्वामी! आपको जो सगुण, निर्गुण, अन्तर्यामी जानते हो, वह जाना करे मेरे हृदय को तो कोशलपति कमलनयन श्री राम जी अपना घर बनावे।

 

 

 

11- ऐसा अभिमान भूलकर भी न छूटे कि मैं सेवक हूँ और श्री रघुनाथ जी मेरे स्वामी है। मुनि के वचन सुनकर श्री राम जी मन में बहुत प्रसन्न हुए। तब उन्होंने हर्षित होकर श्रेष्ठ मुनि को हृदय से लगा लिया।

 

 

 

 

12- और कहा हे मुनि! मुझे परम प्रसन्न जानो। जो वर मांगो वही मैं तुम्हे दूँ। मुनि सुतीक्ष्ण जी ने कहा मैंने तो कभी वर माँगा ही नहीं। मुझे समझ में नहीं आता कि क्या झूठ है और क्या सच है। मैं क्या मांगू और क्या नहीं मांगू।

 

 

 

 

13- अतः हे रघुनाथ जी! दासो को सुख प्रदान करने वाले! आपको जो अच्छा लगे वही मुझे दीजिए। श्री राम जी ने कहा – हे मुने! तुम प्रगाढ़ भक्ति, वैराग्य, विज्ञान, समस्त गुणों तथा ज्ञान के निधान हो जाओ। तब मुनि बोले प्रभु ने जो वरदान मुझे दिया वह मुझे प्राप्त हो गया। अब मुझे जो अच्छा लगता है वह दीजिए।

 

 

 

 

11- दोहा का अर्थ-

 

 

 

 

हे प्रभो! हे श्री राम जी! छोटे भाई लक्ष्मण जी और सीता जी सहित आप निष्काम होकर हृदय रूपी आकाश में चन्द्रमा की भांति सदा निवास कीजिए।

 

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

 

1- एवमस्तु ऐसा उच्चारण कर लक्ष्मी निवास श्री राम जी हर्षित होकर अगस्त ऋषि के पास चले। तब सुतीक्ष्ण जी बोले – गुरु अगस्त्य जी का दर्शन किए हुए मुझे बहुत दिन हो गए है।

 

 

 

 

2- अब मैं भी प्रभु आपके साथ ही गुरु जी के पास चलता हूँ। इसमें हे नाथ! आप पर मेरा कोई एहसान नहीं है। मुनि की चतुराई को देखकर श्री राम जी ने उनको साथ ले लिया और दोनों भाई हंसने लगे।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Hindu Dharm Kosh Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!