Hanuman Bahuk Pdf In Hindi / हनुमान बाहुक Pdf in Hindi

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Hanuman Bahuk Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Hanuman Bahuk Pdf Free Download कर सकते हैं।

 

 

 

 

Hanuman Bahuk Pdf Hindi / हनुमान बाहुक Pdf

 

 

 

हनुमान बाहुक पीडीएफ फ्री डाउनलोड 

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

भगवान कह रहे है कि आत्मसाक्षात्कार को प्राप्त योगीजन यह सब स्पष्ट रूप से देख सकते है। लेकिन जिनके मन विकसित नहीं है और जो आत्मसाक्षात्कार को प्राप्त नहीं है वह प्रयत्न करके भी यह नहीं समझ पाते कि क्या हो रहा है।

 

 

 

 

उपरोक्त शब्दों का तात्पर्य – इस प्रसंग में योगिनः शब्द महत्वपूर्ण है। अनेक योगी आत्मसाक्षात्कार के पथ पर होते है। लेकिन जो आत्मसाक्षात्कार को प्राप्त नहीं है उसे यह नहीं ज्ञात हो पाता है कि जीव के शरीर में कैसे-कैसे परिवर्तन हो रहे है।

 

 

 

 

आजकल ऐसे अनेक तथा-कथित योगी है और उनके तथाकथित योगियों के संगठन है। लेकिन आत्मसाक्षात्कार के मामले एकदम से शून्य है।

 

 

 

 

यद्यपि वह तथाकथित योग पद्धति का प्रयास करते है लेकिन वह स्वरुप सिद्ध नहीं हो पाते है। वह केवल कुछ आसनो में व्यस्त रहते है और यदि उनका शरीर सुगठित तथा स्वस्थ्य हो गया तो वह संतुष्ट हो जाते है।

 

 

 

 

उन्हें इसके अतिरिक्त कोई जानकारी नहीं रहती है। ऐसे व्यक्ति आत्मा के देहांतरण को नहीं समझ सकते है। जिन्हे आत्मा, जगत तथा परमेश्वर की अनुभूति हो चुकी है ऐसे योगी ही इस बात को समझने में समर्थ होते है क्योंकि वह सचमुच ही योग पद्धति में रमे हुए है। दूसरे शब्दों में जो भक्तियोगी है वह ही यह सब समझ सकते है कि किस प्रकार से सब कुछ घटित होता है।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Hanuman Bahuk Pdf आपको कैसी लगी, हमें कमेंट में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब भी जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

इसे भी पढ़ें —-आरती संग्रह इन हिंदी Pdf

 

 

 

Leave a Comment