Advertisements

ग्रह शांति पद्धति Pdf / Grah shanti Paddhati pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Grah shanti Paddhati pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Grah shanti Paddhati pdf download कर सकते हैं और आप यहां से Mantra vidya pdf कर सकते हैं।

Advertisements

 

 

 

 

 

 

Grah Shanti Paddhati pdf

 

पुस्तक का नाम  Grah Shanti Paddhati pdf
पुस्तक के लेखक  श्री शिव दत्त मिश्र 
भाषा  हिंदी 
साइज  198 Mb 
पृष्ठ  408 
श्रेणी  धार्मिक 
फॉर्मेट  Pdf 

 

 

 

ग्रह शांति पद्धति Pdf Download

 

 

Advertisements
Grah Shanti Paddhati pdf
Grah Shanti Paddhati pdf Download यहां से करे।
Advertisements

 

 

Advertisements
कृष्ण कुंजी नावेल Pdf Download
कृष्ण कुंजी नावेल Pdf Download
Advertisements

 

 

Advertisements
Doraemon comic book
छाया का शिकार हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये

 

 

1964 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय वे अकेले ही थे जो रेलवे स्टेशन पर रुक कर सेना के जवानों के लिए खाना पहुंचाते थे। अपनी युवा अवस्था में नरेन्द्र मोदी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से जुड़े. वहां रह कर मोदी जी ने कई वर्ष विद्यार्थी स्तर पर ही देश की सेवा की. इसके बाद मोदी जी अटल बिहारी बाजपेयी के नेतृत्व में भाजपा से जुड़े।

 

 

 

शंकर लाल वाघेला के साथ नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में पार्टी को ऊंचे स्तर पर पहुँचाया। 90 के दशक में भाजपा के लिए अटल जी उभरते हुए विपक्षी नेता साबित हो रहे थे. भाजपा को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल रही थी. सन् 1995 में गुजरात में भाजपा सत्ता में आई।

 

 

 

सत्ता में आने के बाद नरेन्द्र मोदी को सोमनाथ से लेकर अयोध्या तक की रथ यात्रा की ज़िम्मेदारी दी गयी थी. यात्रा निर्विघ्न सफल रही. इस यात्रा के कुछ समय बाद ही कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक की यात्रा भी निकाली गयी. इन दोनों यात्रा में नरेन्द्र मोदी ने अहम भूमिका निभाई थी।

 

 

 

इससे पहले 1995 के गुजरात चुनाव की रणनीति तैयार करने में मोदी जी का सबसे बड़ा हाथ था. जैसे ही भाजपा ने 1995 का गुजरात चुनाव जीता वैसे ही नरेन्द्र मोदी को पार्टी का महामंत्री बना दिया गया. यहाँ से मोदी जी का दिल्ली का सफ़र शरू हुआ।

 

 

 

दिल्ली जाते ही मोदी जी को अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार में रहते हुए हरयाणा और हिमाचल प्रदेश का कार्यभार मिला। यहाँ पर मोदी जी ने भाजपा का प्रचार किया। सन् 2001 में केशुभाई पटेल भाजपा की ओर से गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

 

 

 

उनके नेतृत्व में भाजपा गाँधीनगर के उप-चुनाव हार गयी थी. गाँधी नगर की सीट पर लालकृष्ण आडवाणी थे। लालकृष्ण आडवाणी ने चुनाव हारने के बाद गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल को मुख्यमंत्री पद से हटा कर नरेन्द्र मोदी को मुख्यमंत्री बनाया था।

 

 

 

मुख्यमंत्री बनने के बाद 2002 तक उन्होंने सिर्फ छोटी सरकारी संस्थाओं को मज़बूत बनाने के लिए काम किया. उनके सर पर 2002 के चुनावों का भी बोझ था. मुख्यमंत्री बनने से पहले मोदी जी के पास किसी भी प्रकार का प्रशासनिक अनुभव नहीं था. इसीलिए पार्टी उन्हें शुरु में उप-मुख्यमंत्री बनाना चाहती थी।

 

 

 

लेकिन मोदी जी ने इसके लिए मना कर दिया था उन्होंने अटल जी और लालकृष्ण अडवानी को कहा था कि या तो आप मुझे गुजरात की पूरी ज़िम्मेदारी दीजीये या कुछ भी मत दीजीये। अपने दुसरे कार्यकाल में मोदी जी ने गुजरात के आर्थिक विकास पर ज्यादा ध्यान दिया। इस कारण गुजरात भारत का सबसे बड़ा उद्योग क्षेत्र बन गया था।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Grah shanti Paddhati pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Grah shanti Paddhati pdf की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

Leave a Comment

Advertisements
error: Content is protected !!