Advertisements

गोपाल सहस्रनाम पाठ हिंदी में Pdf / Gopal sahastranaam pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Gopal sahastranaam pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Gopal sahastranaam pdf download कर सकते हैं और आप यहां से Dhruvswamini Pdf in Hindi कर सकते हैं।

Advertisements

 

 

 

 

 

 

Gopal sahastranaam pdf

 

 

पुस्तक का नाम  Gopal sahastranaam pdf
पुस्तक के लेखक 
साइज  6.58 Mb 
पृष्ठ  31 
भाषा  हिंदी 
फॉर्मेट  Pdf 
श्रेणी  धार्मिक 

 

 

गोपाल सहस्रनाम पाठ हिंदी में Pdf Download

 

 

Advertisements
Gopal sahastranaam pdf
Gopal sahastranaam pdf Download यहां से करे।
Advertisements

 

 

Advertisements
Gopal sahastranaam pdf
रावण आर्यावर्त का शत्रु फ्री डाउनलोड करें। 
Advertisements

 

Advertisements
Gopal sahastranaam pdf
गरमा गरम बर्फ के गोले हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये

 

 

रथ यात्रा जिसकी शुरुआत सबसे पहले आडवाणी जी ने की थी, यह यात्रा कोई साधारण यात्रा नही हुआ करती थी इस यात्रा की लहर पूरे देश मे होती थी इसका मुख्य उद्देश्य भारतीय धर्म और संस्कृति को बढ़ावा देना तथा लोगों को अपने धर्म के प्रति जागरूक करना होता था।

 

 

 

इन्होंने जों मुददे उठाये वह सही भी थे और आमजनता तक उनको पहुचना बहुत बड़ी बात थी. इन्होंने जितनी यात्राओ के जयघोष किये वह सफल भी रही. इससे भारतीय जनता पार्टी को बहुत फायदा हुआ तथा उसकी तरफ लोगों का नजरिया बदला।

 

 

 

इनका भारतीय जनता पार्टी मे एक ऐसा योगदान था जिसे हर कोई नही समझ सकता पर सही मायने मे इन्होंने पार्टी के लिये बहुत मेहनत करी थी जब बीजेपी की शुरुवात हुई थी तब मात्र एक-दो सांसद थे पर इनके लगातार प्रयास से डेढ सौ से ज्यादा सांसद जुड गये और आज पार्टी ने एक बड़े वट वृक्ष का रूप ले लिया है।

 

 

 

आडवाणी तथा अटल बिहारी वाजपेई जी जोड़ी को सच्ची दोस्ती का नाम दिया गया जिसके चलते इन्होंने केंद्र मे साथ मे कई नये कार्यों की योजनाएं बनाई तथा सफल भी हुये। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचार के दौरान जब यह राजस्थान के अलवर जिले मे गये वहा एक तालाब मे उनके साथीयों के साथ गये तब देखा की यह तालाब नही एक बावड़ी है।

 

 

 

वहा मस्ती मे सभी साथियों ने कहा कि कूद जाओ मजा आयेगा और वह कूद गये. जब बाहर निकल कर देखा तो उस बावड़ी मे अनगिनत सांप थे सबके होश उड़ गये पर ये सबसे अच्छी बात थी किसी को कोई हानि नही हुई। इन को अपने राजनीतिक जीवन मे कुछ विवादों का सामना भी करना पड़ा जिसके चलते इनसे पार्टी ने इस्तीफा मांगा तथा कई बार लोकसभा मे विपक्ष मे भी बैठना पड़ा।

 

 

 

इन पर आरोप था कि इन्होंने हवाला ब्रोकर से रिश्वत लेकर काम किया है. जिसके चलते इनका यह मुकदमा सुप्रीम कोर्ट तक चला बहुत विवादों के बाद कोई सबूत ना मिलने के कारण इनको निदोर्ष घोषित किया गया. अमित शाह के बारे में जानने के लिए यहाँ पढ़े।

 

 

 

सन् 2005 मे पाकिस्तान यात्रा के समय वहाँ अपने बयानों के चलते इन्हे अपनी पार्टी में ही विरोधो का सामना करना पड़ा और इस्तीफा देना पड़ा हालाकि बाद मे कुछ कार्यकर्ता जों इनके पक्ष मे थे उनके कहने पर इनका इस्तीफा वापस ले लिया गया।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Gopal sahastranaam pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Gopal sahastranaam pdf की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

Leave a Comment

Advertisements
error: Content is protected !!