Advertisements

सरल हवन विधि गीता प्रेस Pdf / Gita press Havan vidhi Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Gita press Havan vidhi Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Gita press Havan vidhi Pdf download कर सकते हैं और आप यहां से Taittiriya Upanishad Pdf in Hindi कर सकते हैं।

Advertisements

 

 

 

 

 

 

Gita press Havan vidhi Pdf

 

 

पुस्तक का नाम  Gita press Havan vidhi Pdf
पुस्तक के लेखक  पंडित ज्वाला प्रसाद 
भाषा  हिंदी 
श्रेणी  भक्ति 
फॉर्मेट  Pdf 
साइज  4 Mb 
पृष्ठ  68 

 

 

 

सरल हवन विधि गीता प्रेस Pdf Download

 

 

Advertisements
Gita press Havan vidhi Pdf
Gita press Havan vidhi Pdf Download यहां से करे।
Advertisements

 

 

Advertisements
Gita press Havan vidhi Pdf
कर्ण की आत्मकथा उपन्यास फ्री डाउनलोड
Advertisements

 

 

Advertisements
Gita press Havan vidhi Pdf
फेको फेको टिड्डा हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

दंगाइयों पर काबू पाने के लिए सरकार ने कई शहरों में कर्फ्यू लगा दिया था। इन दंगों में मीडिया और विपक्ष ने मोदी सरकार पर आरोप लगाना शुरू कर दिए. कई सालों बाद 2009 में सुप्रीम कोर्ट ने विशेष इन्वेस्टीगेशन टीम का गठन किया।

 

 

 

उस इन्वेस्टीगेशन टीम ने 2010 में रिपोर्ट पेश की jismenजिसमें मोदी जी और उनकी सरकार के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले. लेकिन 2013 में उस इन्वेस्टीगेशन टीम पर विपक्ष ने आरोप लगाए कि उन्होंने मोदी जी के खिलाफ सबूत छुपाए या मिटाए थे।

 

 

 

इस घटना के बाद मीडिया ने भाजपा पर मोदी जी को हटाने का दबाव बनाया. पर भाजपा ने मोदी जी को नहीं हटाया और अगले चुनाव में भाजपा ने 182 में से 127 सीटों पर जीत हासिल की. इस जीत के साथ मोदी जी ने अपने सभी आलोचकों के मुंह बंद कर दिए।

 

 

 

2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी ने पूरे देश भर में 430 से ज्यादा रैलियां की. ये रैलियां देश के पच्चीस राज्यों में आयोजित की गयी थी. 2014 के चुनावों में मोदी प्रधानमंत्री पद के सबसे बड़े उम्मीदार थे. भाजपा की जीत पूरी तरह से नरेन्द्र मोदी पर ही निर्भर थी।

 

 

 

क्योंकि उस चुनाव में मोदी जी को उस क्षेत्र से भी वोट मिले जहाँ पर से भाजपा को सांसद आने की उम्मीद नहीं थी. पूरे देश के सामने मोदी जी ने जो गुजरात मॉडल तैयार किया था. उसे देख कर हर कोई यही चाहता था की मोदी जी ही देश के प्रधानमंत्री बने।

 

 

 

चुनावों की तैयारी के दौरान ही उन्होने एक कार्यक्रम चाय पे चर्चा के माध्यम से आम लोगों की समस्याएँ सुनी और उनके सवालों के जवाब भी दिए. मोदी जी ने कई राज्यों में तो 8 या 10 रैलियां ही की लेकिन इन राज्यों में भी भाजपा को बहुत से सांसद मिले और भाजपा ने 2014 के चुनाव में एक ऐतिहासिक जीत दर्ज की।

 

 

 

26 मई 2014 को नरेन्द्र मोदी ने भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. शपथ लेते समय मोदी जी ने कई बड़े वादे किये थे इन वादों में मुद्रास्फीति की दर कम करना, जी.डी.पी. का नवीनकरण और विदेश से काला धन लाना प्रमुख थे. मोदी जी के कार्यकाल के 100 दिन जैसे ही पूरे वैसे ही उन्होंने जनता से बात की और उन्हें देश की उपलब्धियां बताई।

 

 

 

और जनता के लिए आने वाली योजनाओं के बारे में बताया. उन 100 दिनों के बाद मोदी जी के कई कामों की सराहना नहीं हुई क्योंकि 100 दिनों में ही देश की शकल नहीं बदली जाती. मोदी जी उस समय विपक्ष के निशाने पर थे. जैसे-जैसे मोदी जी का कार्यकाल बढ़ते जा रहा था वैसे-वैसे नरेन्द्र मोदी जी के आलोचक भी बढ़ रहे थे।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Gita press Havan vidhi Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Gita press Havan vidhi Pdf की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

Leave a Comment

Advertisements
error: Content is protected !!