Funny Drama Script Pdf Free / चम्पक स्टोरी Pdf / रुद्रायमाला तंत्र Pdf

नमस्कार मित्रों, आज इस पोस्ट में हम आपको Funny Drama Script Pdf दे रहे हैं। आप नीचे की लिंक से Funny Drama Script Pdf फ्री डाउनलोड कर सकते हैं।

 

 

 

Funny Drama Script Pdf

 

 

 

 

 

 

1-  चार दिन दो गुलाब 

 

2- रत्नावली 

 

3- अँधेरे में उजाला 

 

4-  mudrarakshasa pdf hindi free मुद्रा राक्षस पीडीएफ फ्री डाउनलोड

 

5- Panna-Dhay पन्ना धाय ड्रामा स्क्रिप्ट डाउनलोड

 

6- तीस मार खां Free Drama Script Download

 

7- काली नागिन 

 

8- ब्रह्मराक्षस का नाई 

 

9- ज़हर – ए – इश्क़ 

 

10-बेग़म का तकिया 

 

11- बच्चों की कचहरी 

 

 

 

Champak Story in Hindi Pdf Free Download

 

 

1- चम्पक की कॉमिक फ्री डाउनलोड  

 

2- Champak Story Book in Hindi PDF Free Download

 

 

रुद्रायमाला तंत्र Pdf

 

 

रुद्रायमाला तंत्र Pdf Free Download Devnagiri Lipi

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

राग द्वेष से मुक्त इन्द्रिय संयम से (भगवान की पूर्ण कृपा) – श्री कहते है – जो व्यक्ति समस्त राग तथा द्वेष से मुक्त होकर एवं अपनी इन्द्रियों को संयम द्वारा वश में करने में समर्थ है ऐसा व्यक्ति भगवान की पूर्ण कृपा प्राप्त कर सकता है।

 

 

 

उपरोक्त शब्दों का तात्पर्य – यह पहले ही बताया जा चुका है कि कृत्रिम विधि से इन्द्रियों पर वाह्य रूप से तो नियंत्रण किया जा सकता है किन्तु जब तक इन्द्रियों को भगवान की दिव्य सेवा में नहीं लगाया जाता है तब तक पतन होने की या नीचे गिरने की संभावना अधिक बनी रहती है।

 

 

 

 

कृष्ण की इच्छा होने पर ही भक्त सामान्यतया अवांछित कार्य कर सकता है किन्तु कृष्ण की यदि इच्छा नहीं है तो वह (भक्त) उस कार्य को भी नहीं करेगा जिसे वह सामान्य रूप से अपने लिए करता है। यद्यपि पूर्णतया कृष्ण भावनाभावित व्यक्ति ऊपर से विषयी स्तर पर भले ही प्रतीत होता है किन्तु कृष्ण भावनाभावित होने से वह विषय कर्मो में आसक्त नहीं होता है।

 

 

 

 

अतः कर्म करना या न करना उसके वश में रहता है क्योंकि वह केवल कृष्ण के निर्देश के अनुसार ही कार्य करता है। उसका एकमात्र उद्देश्य तो एकमात्र कृष्ण को प्रसन्न करना रहता है। अन्य कुछ नहीं, उसका हर कार्य ऐसा होता है जिससे कृष्ण प्रसन्न होते है। यही चेतना भगवान की अहैतुकी कृपा है जिसकी प्राप्ति भक्त को इन्द्रियों में आसक्त होते हुए भी हो सकती है।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Funny Drama Script Pdf आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें।

 

 

 

 

Leave a Comment