Advertisements

Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi Download

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi Download कर सकते हैं और यहां से Who is Shudra in Hindi Pdf कर सकते है।

 

Advertisements

 

 

Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi Download

 

 

पुस्तक का नाम Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi
पुस्तक के लेखक D.R. Jatav 
भाषा हिंदी 
श्रेणी Biography 
पुस्तक की साइज़ 12.7 Mb 
फॉर्मेट Pdf 
कुल पृष्ठ 274 

 

 

 

 

Advertisements
Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi
Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

 

Ambedkar Ke Rajnitik Vichar Pdf
Ambedkar Ke Rajnitik Vichar Pdf यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

 

Kattarvad pdf Hindi
Kattarvad pdf Hindi यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

दीपक का अपने सभी साथियो के ऊपर पूर्ण विश्वास था और उसी के परिणाम स्वरुप ही यह कम्पनी ‘निशा भारती सहयोग संस्था’ का निर्माण संभव हो सका था और जिसका उद्घाटन आगरा की प्रसिद्ध समाज सेविका डाक्टर निशा भारती के हाथो सम्पन्न होना था।

 

 

रविवार के दिन डा. निशा भारती का क्लिनिक बंद रहता था लेकिन बहुत आवश्यकता होने पर वह सदैव उपलब्ध रहती थी लेकिन आज उन्हें आगरा से आठ किलोमीटर पूर्व बेलवा गांव में दीपक की कम्पनी का उद्घाटन करने जाना था।

 

 

 

 

एक फौजी ऑफिसर की जीवन संगिनी सरकारी अस्पताल की बड़ी शल्य चिकित्सक और सरोज क्लिनिक की मालकिन होते हुए भी उनके पास कही भी आने जाने के लिए कोई भी अपना साधन नहीं था। जबकि उनका पुत्र रोशन कितनी बार उनसे कह चुका था कि अपने पास कही भी जाने के लिए खुद का साधन होना अतिआवश्यक है।

 

 

 

 

विपिन भी डा. निशा भारती से कई बार कह चुके थे लेकिन डा. निशा भारती का एक ही जवाब होता था कि हमे जनता की सवारी से आने-जाने में उनकी परेशानी समझने में बहुत मदद मिलती है। उनके इसी जिद से विपिन ने अपने खुद के साधन के लिए खान ही छोड़ दिया था।

 

 

 

 

लेकिन नयी उम्र का लड़का रोशन इस बात को लेकर अपने हमउम्र लड़को के बीच खुद को उपेक्षित समझता था। दो ऑटो रिक्शा में विपन, निशा, कॉम, सरिता और रोशन सवार होकर बेलवा गांव पहुँच गए थे। बेलवा गांव के बाहर सड़क के किनारे ही निशा भारती सहयोग संस्था का बोर्ड लगा हुआ था।

 

 

 

 

दोनों ऑटो रिक्शा वही रुक गए। उसमे से सभी लोग उतरकर एक छोटे से तंबू में चले गए। वहां पर आये हुए लोगो में कोई धनाढ्य वर्ग का नहीं था। एक मजदूर की कम्पनी में उसी के श्रेणी के लोग उपस्थित थे जो भोजन की कीमत समझते थे।

 

 

 

 

निशा भारती पारंपरिक रूप से पूजा करके और नारियल फोड़कर कम्पनी का श्री गणेश कर दिया। वहां उपस्थित सभी जनमानस में चर्चा का केंद्र बिंदु बन गयी थी जो इतना सम्पन्न होते हुए भी सादगी पूर्ण जीवन व्यतीत करती थी। जो हर समय सबकी सेवा में तत्पर रहती थी।

 

 

 

 

निशा भारती ने सभी के साथ ही भोजन किया और ऑटो रिक्शा से अपने घर आ गयी थी। दीपक की कम्पनी में पेठा के अलावा अन्य भी खाद्य वस्तुए तैयार होती थी जो उचित कीमत और गुणवत्ता पूर्ण होने के कारण ही लोग प्रिय हो गयी थी।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Dr. Bhimarao Ambedkar Biography Pdf Hindi Download की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!