Advertisements

5 + Detective Novels in Hindi Pdf / जासूसी उपन्यास Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Detective Novels in Hindi Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Detective Novels in Hindi Pdf Download कर सकते हैं और यहां से  झूठा सच उपन्यास Pdf Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

Detective Novels in Hindi Pdf Free Download

 

 

 

Advertisements
Jasoosi Novel in hindi Pdf
फिरंगी उपन्यास Pdf Download
Advertisements

 

 

 

Firangi Novel Pdf
3 din सुरेंद्र मोहन पाठक pdf download
Advertisements

 

 

 

Firangi Novel Pdf
अनहोनी राज भारती pdf download
Advertisements

 

 

 

Vicky Anand Hindi Novel Pdf
शैतान उपन्यास Pdf Free Download
Advertisements

 

 

 

तबाही उपन्यास Pdf Free Download
शाहीन की तबाही उपन्यास Pdf Free Download
Advertisements

 

 

 

कोहराम उपन्यास Pdf Free Download
कोहराम उपन्यास Pdf Free Download
Advertisements

 

 

 

Novel in Hindi Pdf
नकली नाक उपन्यास Pdf Download
Advertisements

 

 

 

Novel in Hindi Pdf
नीले परिंदे जासूसी उपन्यास Pdf Download
Advertisements

 

 

 

 Detective Novels in Hindi Pdf
उपन्यास यहां से डाउनलोड करें। 
Advertisements

 

 

 

 Detective Novels in Hindi Pdf
Harry Potter and the Half-Blood Prince Hindi Pdf Download
Advertisements

 

 

 

Free Download Khoon Ki Bauchar Ibne Safi Hindi Novel
उपन्यास यहां से डाउनलोड करें। 
Advertisements

 

 

 

Free Download Fansi ka Fanda Ibne Safi Hindi Novel
उपन्यास यहां से डाउनलोड करें। 
Advertisements

 

 

 

मैं कौन हूँ उपन्यास Pdf Download
मैं कौन हूँ उपन्यास Pdf Download
Advertisements

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

वही नीति में निपुण है वही परम बुद्धिमान है उसने ही वेदो के सिद्धांत को भली प्रकार से जान लिया है। वही कवि, वही विद्वान, वही रणधीर है।

 

 

 

वह देश धन्य है जहां श्री गंगा जी है। वह स्त्री धन्य है जो पतिव्रत धर्म का पालन करती है। वह राजा धन्य है जो न्याय करता है और वह ब्राह्मण धन्य है जो अपने धर्म से नहीं डिगता है।

 

 

 

वह धन धन्य है जो दान देने में व्यय होता है और जिसकी पहली गति होती है। धन की तीन गतियां होती है दान, भोग, नाश। दान उत्तम है, भोग मध्यम है और नाश नीच गति है।

 

 

 

 

जो पुरुष न देता है न भोगता है उसके धन की तीसरी गति होती है। वही बुद्धि धन्य और परिपक़्व है जो पुण्य में लगी हुई है। वह समय धन्य है जब सत्संग हो और वही जन्म धन्य है जिसमे ब्राह्मण की अखंड भक्ति हो।

 

 

 

दोहा का अर्थ-

 

 

हे उमा! सुनो, वह कुल धन्य है संसार के लिए पूज्य है और परम पवित्र है जिसमे श्री रघुवीर परायण अनन्य रामभक्त विनम्र पुरुष उत्पन्न हो।

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

मैंने अपनी बुद्धि के अनुसार ही यह कथा कही यद्यपि पहले इसको छिपाकर रखा था। जब तुम्हारे मन में प्रेम की अधिकता देखी तब मैंने श्री रघुनाथ जी की यह कथा तुमको सुनाई। यह कथा धूर्त, शठ लोगो से नहीं कहनी चाहिए। हथि स्वभाव वाले तथा जो श्री हरि की कथा को मन लगाकर नहीं सुनते हो।

 

 

 

लोभी, क्रोधी और कामी को, जो चराचर के स्वामी श्री रघुनाथ जी को नहीं भजते उनसे भी यह कथा नही कहनी चाहिए। ब्राह्मणो से द्रोह करने वाले को, यदि वह देवराज इंद्र के समान ऐश्वर्यवान राजा भी क्यों न हो तब भी यह कथा कभी नहीं सुनानी चाहिए श्री राम जी कथा के अधिकारी वही है जिनको सत्संगति अतिप्रिय है।

 

 

 

जिनकी गुरु के चरणों में प्रीति है, जो नीति परायण है और ब्राह्मणो के सेवक है वह ही इसके अधिकारी है और उसको तो कथा बहुत सुख देने वाली है जिसको श्री रघुनाथ जी प्राण प्रिय है।

 

 

 

दोहा का अर्थ-

 

 

जो श्री राम जी के चरणों में प्रेम चाहता हो अथवा मोक्ष पद चाहता हो वह इस कथा रूपी अमृत को प्रेम पूर्वक पान करे।

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

हे गिरिजे! मैंने कलियुग के पापो का नाश करने वाली और मन के मैल को दूर करने वाली राम कथा का वर्णन किया। यह राम कथा जन्म-मरण रूपी रोग के नाश के लिए संजीवनी जड़ी है। वेद और विद्वान पुरुष ऐसा कहते है। इसमें सात सुंदर सीढ़ियां है जो श्री रघुनाथ जी की भक्ति को प्राप्त करने के मार्ग है।

 

 

 

 

जिस पर श्री हरि की अत्यंत कृपा होती है वही इस मार्ग पर पैर रखता है। जो लोग कपट का त्याग करके यह कथा गाते है वह मनुष्य अपनी मनः कामना की सिद्धि प्राप्त कर लेते है। जो इसे कहते सुनते और अनुमोदन करते है वह संसार रूपी समुद्र को गऊ के खुर से बने हर गड्ढे की भांति पार कर जाते है।

 

 

 

याज्ञवल्क्य जी कहते है – सब कथा सुनकर पार्वती जी को हृदय में बहुत ही प्रिय लगी और वह सुंदर वाणी बोली – स्वामी की कृपा से मेरा संदेह जाता रहा और श्री राम जी के चरणों में नवीन प्रेम उत्पन्न हो गया।

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Detective Novels in Hindi Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Detective Novels in Hindi Pdf Download की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!