Advertisements

Bhokal Comics Pdf / भोकाल कॉमिक्स Pdf Download

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Bhokal Comics Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Bhokal Comics Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से Business Book In Hindi Pdf कर सकते हैं।

Advertisements

 

 

 

Bhokal Comics Pdf Download

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
खौफनाक खेल हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
भोकाल हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
अतिक्रूर भोकाल हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
तिलिस्म टूट गया हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
अतिक्रूर गोजख़ हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
कपाला हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
गुरुत्वा हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
भोकाल का काल हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
भंवर हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

Advertisements
Bhokal Comics Pdf
फ्लेमिना हिंदी कॉमिक्स यहां से डाउनलोड करे।
Advertisements

 

 

 

 

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें [email protected] पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिये 

 

 

 

दुर्गापते! जिनकी इन्द्रियां दुष्ट है वश में नहीं हो पाती उनके लिए आपकी प्राप्ति का कोई मार्ग सुलभ नहीं है। आप हमेशा भक्तो के उद्धार में तत्पर रहते है। आपका तेज छिपा हुआ है आपको नमस्कार है। आपकी माया शक्तिरूपा जो अहंबुद्धि है उससे आत्मा का स्वरुप ढक गया है अतएव यह मूढ़बुद्धि जीव अपने स्वरूपों को नहीं जान पाता।

 

 

 

 

आपकी महिमा का पार पाना अत्यंत कठिन है। हम आप महाप्रभु को सिर झुकाते है। ब्रह्मा जी कहते है – नारद! इस प्रकार महादेव जी की स्तुति करके श्रीविष्णु आदि सब देवता उत्तम भक्ति से मस्तक झुकाये प्रभु शंकर के सामने चुपचाप खड़े हो गए।

 

 

 

 

ब्रह्मा जी कहते है – श्रीविष्णु आदि देवताओ द्वारा की हुई उस स्तुति को सुनकर सबकी उत्पत्ति के हेतुभूत भगवान शिव बड़े खुश हुए और जोर-जोर से हंसने लगे। मुझ ब्रह्मा और विष्णु को अपनी-अपनी पत्नी के साथ आया हुआ देख महादेव जी ने हम लोगो से यथोचित वार्तालाप किया और हमारे आगमन का कारण पूछा।

 

 

 

 

रूद्र बोले – हे हरे! हे विधे! तथा हे देवर्षियों और महर्षियो! आज निर्भय होकर यहां अपने आने का ठीक-ठीक कारण बताओ। तुम लोग किसलिए यहां आये हो और कौन सा कार्य आ पड़ा है? वह सब मैं सुनना चाहता हूँ क्योंकि तुम्हारे द्वारा की गयी स्तुति से मेरा मन बहुत प्रसन्न है।

 

 

 

 

मुने! महादेव जी के इस प्रकार पूछने पर भगवान विष्णु कि आज्ञा से मैंने वार्तालाप शुरू किया। देवदेव! महादेव! करुणासागर! प्रभो! हम दोनों इन देवताओ और ऋषियों के साथ जिस उद्देश्य से यहां आये है उसे सुनिए। वृषभध्वज! विशेषतः आपके ही लिए हमारा यहां आगमन हुआ है क्योंकि हम तीनो सहार्थी है।

 

 

 

 

सृष्टिचक्र के संचालन रूप प्रयोजन की सिद्धि के लिए एक दूसरे के सहायक है।सहार्थी को हमेशा परस्पर यथायोग्य सहयोग करना चाहिए अन्यथा यह जगत टिक नहीं सकता। महेश्वर! कुछ ऐसे असुर उत्पन्न होंगे जो मेरे हाथ से मारे जायेंगे।

 

 

 

 

कुछ भगवान विष्णु के और कुछ आपके हाथो नष्ट होंगे। महाप्रभो! कुछ असुर ऐसे होंगे जो आपकी सहायता से उत्पन्न हुए पुत्रो के हाथ से मारे जा सकेंगे। प्रभो! कभी कोई विरले ही असुर ऐसे होंगे जो माया के हाथो द्वारा वध को प्राप्त होंगे। आप भगवान शंकर की कृपा से ही देवताओ को हमेशा उत्तम सुख सुख प्राप्त होगा।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Bhokal Comics Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और Bhokal Comics Pdf की तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment

Advertisements
error: Content is protected !!