RatRating Bhavishya Puran PDF Hindi Download / भविष्य पुराण PDF Download हिंदी में

Bhavishya Puran PDF Hindi Download / भविष्य पुराण PDF Download हिंदी में

Bhavishya Puran PDF Hindi मित्रों इस पोस्ट में Bhavishya Puran PDF के बारे में बताया गया है।  आप नीचे की लिंक से Bhavishya Purana Book PDF डाउनलोड कर सकते हैं।

 

 

 

Bhavishya Puran PDF Hindi भविष्य पुराण PDF

 

 

 

 

 

 

भविष्य पुराण यहाँ से डाउनलोड करें। 

 

 

 

 

 

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि इसमें आने वाले समय की घटनाओं का वर्णन होगा। इस पुराण से ही पता चलता है कि  जन्म से बहुत पहले ही सबके  बारे में लिखा जा चुका था। इस पुराण में भारत वर्ष का समस्त वर्तमान और आधुनिक इतिहास का वर्णन मिलता है।

 

 

 

 

 

भविष्य पुराण में महर्षि वेद व्यास ने सभी धर्मों के बारे में और तमाम चीजों के बारे में बहुत ही पहले लिख दिया था। भविष्य पुराण 18 पुराणों में अपना महत्व पूर्ण स्थान रखता है। इसमें धर्म सदाचार अनेकों आख्यान तीर्थ नीति उपदेश दान की महत्ता के साथ ही ज्योतिष विद्या और आयुर्वेद का विस्तृत एवं चयनित व्याख्या की गयी है।

 

 

 

 

 

 

भविष्य पुराण के अनुसार इसके श्लोकों की कुल संख्या 50,000 होनी चाहिए। लेकिन वर्तमान में कुल 14,000 श्लोक ही उपलब्ध है। इस पुराण में विक्रम बैताल कथा, सामुद्रिक लक्षण, आराधना, शांति और नित्य कर्म संस्कार का वर्णन मिलता है।

 

 

 

 

 

 

इस पुराण में भगवान सूर्य नारायण की महिमा उनके स्वरूप और उपासना का विस्तृत उल्लेख मिलता है। इसलिए ही इसे “सौर पुराण” भी कहते है।

 

 

 

 

 

भविष्य पुराण में व्रत संबंधी बातों का भी उल्लेख मिलता है। इतने विस्तार से व्रतों का वर्णन किसी भी स्वतंत्र व्रत संग्रह और धर्म शास्त्र में भी नहीं मिलता है।

 

 

 

 

 

इस पुराण को आधार बनाकर ही इतिहास कारों ने इतिहास का वर्णन किया है। इसमें मध्य कालीन हिन्दू सम्राट हर्ष वर्धन और अनेक हिन्दू राजाओं के साथ ही मुस्लिम शासकों का भी उल्लेख मिलता है।

 

 

 

Bhavishya Puran PDF Hindi

 

 

 

हिंदी कहानी Hindi Kahani 

 

 

 

एक नगर में देवी दयाल नाम का सेठ अपने भरे पूरे परिवार के साथ रहता था। उसकी चार बहुए थी। सेठ देवी दयाल के पास बहुत सम्पत्ति थी।

 

 

 

 

उनके नाम के अनुरूप देवी लक्ष्मी की कृपा उनके ऊपर कई पीढ़ियों से थी। एक दिन रात को सेठ देवी दयाल निद्रा देवी की गोद में थे।

 

 

 

 

तब उन्हें एक स्वप्न दिखा। एक युवा स्त्री लाल रंग के परिधान में उनके घर से निकलकर बाहर जा रही थी। सेठ देवी दयाल ने उस स्त्री से पूछा, “हे देवी आप कौन है और क्यों हमारे घर से बाहर जा रही है ?”

 

 

 

 

तब वह स्त्री बोली, “हे सेठ देवी दयाल मैं धन की अधिष्ठात्री देवी लक्ष्मी हूँ। मैं तुम्हारे इस घर में कई पीढ़ियों से रहती आई हूँ और अब हमारे जाने का समय आ गया है। मैं तुम्हारे घर के सभी सदस्यों के अच्छे व्यवहार से बहुत प्रसन्न हूँ। लेकिन मैं भी समय के हाथो बिवश हूँ, इसलिए अब हमे अवश्य जाना होगा। तुम जो भी वरदान मांगना चाहते हो तो मांग सकते हो।”

 

 

 

 

 

सेठ देवी दयाल ने सोचा मैं अपनी सभी बहुओ से विचार करने के बाद ही निर्णय करूँगा। सेठ ने माता लक्ष्मी से कहा, “आप हमे एक मौका दीजिए। मैं कल अपने घर की बहुओ से पूछकर बताऊंगा।”

 

 

 

 

ठीक है मैं तुम्हे कल स्वप्न में दर्शन दूंगी। इतना कहकर माँ लक्ष्मी चली गई। सुबह सेठ देवी दयाल ने अपनी चारो बहुओ को बुलाया और कहा, “माँ लक्ष्मी अब हमारे घर से जाने वाली है और वरदान मांगने के लिए कहा है। तुम लोगो का क्या विचार है ?”

 

 

 

 

एक बहू ने कहा, “आप सोना चांदी मांग लो।”

 

 

 

दूसरी ने कहा, “ढेर सारे अन्न का भंडार मांग लो।”

 

 

 

तीसरी ने कहा, “हीरे जवाहरात मांग लो।”

 

 

 

तब चौथी बहू ने कहा, “आप माँ लक्ष्मी से कहना कि हमारे परिवार में शांति बनी रहे और परिवार के सभी लोग दीन दुखियो की सहायता में तत्पर रहे और हमारे घर में सदैव ही पूजा पाठ होता रहे और हमारा किसी से भी बैर न रहे। ऐसा वरदान हमारे परिवार को दे।”

 

 

 

 

रात हुई, देवी दयाल के स्वप्न में माँ लक्ष्मी प्रकट हुई। तब सेठ ने अपनी छोटी बहू की कही हुई बातो का वरदान माँ लक्ष्मी से देने के लिए कहा।

 

 

 

 

माँ लक्ष्मी ने कहा, “जहां शांति रहती है, सद्भाव रहता है। दीन दुखियो की सहायता की जाती है और हमेशा पूजा पाठ होता है। वहां तो हमेशा श्री हरि नारायण बिराजमान रहते है और जहां श्री हरि नारायण रहते है वही मैं भी रहती हूँ।”

 

 

 

 

तब माँ लक्ष्मी ने सेठ देवी दयाल को आशीर्वाद देते हुए ‘तथास्तु’ कह दिया।

 

 

 

 

मित्रों यह Bhavishya Puran PDF Hindi आपको कैसी लगी जरूर बताएं और Bhavishya Purana PDF की तरह की दूसरी बुक्स और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और Bhavishya Purana PDF Book in Hindi शेयर भी जरूर करें।

 

 

 

 

1- Download All Vedas Pdf Hindi / आल वेद डाउनलोड पीडीएफ फ्री

 

2- Atharva Veda In Hindi Pdf Free / अथर्व वेद इन हिंदी पीडीऍफ़ डाउनलोड

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment

स्टार पर क्लिक करके पोस्ट को रेट जरूर करें।

Enable Notifications    सब्स्क्राइब करें। No thanks