Advertisements

5 + Best Astrology Books In Hindi Pdf / बेस्ट ज्योतिष बुक इन हिंदी Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Best Astrology Book In Hindi Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Best Astrology Book In Hindi Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से 7 + वराहमिहिर ज्योतिष बुक्स Pdf पढ़ सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

 

Best Astrology Book In Hindi Pdf / बेस्ट एस्ट्रोलॉजी बुक इन हिंदी पीडीएफ

 

 

 

1- पराशर ज्योतिष इन हिंदी पीडीएफ

 

Advertisements
5 + Best Astrology Books In Hindi Pdf
5 + Best Astrology Books In Hindi Pdf
Advertisements

 

2-  अंक ज्योतिष की किताब Pdf

 

3- ज्योतिष तंत्र बुक्स हिंदी Pdf

 

4- ज्योतिष बुक्स पीडीएफ फ्री Download

 

5- हस्तरेखा बुक फ्री में डाउनलोड करें

 

7-  ज्योतिष बुक्स पीडीएफ फ्री

 

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

2- तदनन्तर वशिष्ठ जी ने दशरथ जी के स्वर्गगमन की बात सुनाई, जिसे सुनकर रघुनाथ जी ने बहुत दुःख पाया और अपने प्रति उनके स्नेह को मरने का कारण विचारकर धीर-धुरंधर श्री राम जी अत्यंत व्याकुल हो गए।

 

 

 

 

3- कठोर वाणी सुनकर सीता जी और रानियां तथा लक्ष्मण जी विलाप करने लगे। सारा समाज शोक से अत्यंत व्याकुल हो गया। मानो राजा का आज ही स्वर्ग वास हुआ हो।

 

 

 

 

4- फिर मुनि श्रेष्ठ वशिष्ठ जी ने श्री राम जी को समझाया। तब उन्होंने समाज सहित श्रेष्ठ नदी मंदाकिनी जी में स्नान किया। उस दिन प्रभु श्री राम जी ने निर्जल व्रत किया। मुनि वशिष्ठ जी के कहने पर किसी ने जल ग्रहण नहीं किया।

 

 

 

 

247- दोहा का अर्थ-

 

 

 

दूसरे दिन सबेरा होने पर मुनि वशिष्ठ जी श्री रघुनाथ जी को भी आज्ञा दी वह सब कार्य प्रभु श्री राम जी ने श्रद्धा भक्ति सहित आदर के साथ किया।

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

1- वेदो में जैसा कहा गया है, उसके अनुसार ही पिता की विदाई करके पाप रूप अंधकार को नष्ट करने वाले सूर्य श्री राम जी स्नान किये। जिसका स्मरण मात्र ही सब मंगल का मूल है।

 

 

 

 

2- वह नित्य शुद्ध-बुद्ध भगवान श्री राम जी शुद्ध हुए साधुओ की ऐसी सम्मति है कि उनका शुद्ध होना वैसा ही है जैसे सब तीर्थो के आवाहन से गंगा जी शुद्ध होती है।

 

 

 

 

इसी प्रकार सच्चिदानंद श्री राम जी तो नित्य ही शुद्ध है। उनके संसर्ग से कर्म ही शुद्ध हो गए। जब शुद्ध होकर दो दिन बीत गए तब श्री राम जी प्रीति के साथ गुरु जी से बोले।

 

 

 

 

मित्रों, यह पोस्ट Best Astrology Book In Hindi Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!