Advertisements

Bankelal Book Pdf / शिव संहिता Pdf फ्री डाउनलोड

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Bankelal Book Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Bankelal Book Pdf Download कर सकते हैं और आप शिव संहिता Pdf फ्री डाउनलोड नीचे से कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

 

Advertisements
Bankelal Book Pdf
बांकेलाल कॉमिक्स पीडीएफ यहाँ से फ्री डाउनलोड करें।
Advertisements

 

 

 

Bankelal Book Pdf
यहां से रामा अमर चित्र कथा पीडीएफ फ्री डाउनलोड करें।
Advertisements

 

 

 

Bankelal Book Pdf
यहां से Amar Chitra Katha Pdf Free Download करें।
Advertisements

 

 

 

Bankelal Book Pdf
यहां से शिव संहिता Pdf फ्री डाउनलोड करें
Advertisements

 

 

 

 

 

उनमे से जो लोग दोनों भाइयो को पहले देख चुके थे, उनसे दूसरे लोग जाते हुए पूछते है। इस प्रकार श्री राम जी की सुंदरता कहते सुनते सभी ने आकर श्री राम जी के दर्शन किए।

 

 

 

3- भेट आगे रखकर वह लोग श्री राम जी को प्रणाम करते है और अत्यंत अनुराग के साथ ही प्रभु को देखते है। वह मुग्ध होकर इस प्रकार से खड़े है जैसे कोई चित्र बनाकर खड़ा कर दिया हो। उनके शरीर पुलकित है और नेत्रों में प्रेमाश्रु  बढ़ रहे है।

 

 

 

4- श्री राम जी ने उन्हें प्रेम में मग्न जाना और सबका सम्मान किया, वह सभी बार-बार प्रभु श्री राम जी को प्रणाम करते हुए हाथ जोड़कर विनीत वचन कहते है।

 

 

 

135- दोहा का अर्थ-

 

 

 

हे नाथ! प्रभु आपके चरणों का दर्शन मिलने पर हम सब सनाथ हो गए। हे कोशल राज! हमारे भाग्य से ही यहां आपका शुभागमन हुआ है।

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

1- हे नाथ! आपने जहां कही भी अपने चरण रखे है, वहां के पहाड़ पृथ्वी मार्ग वन धन्य है, वह वन में विचरने वाले पक्षी और पशु धन्य है और आपको सबका ही जन्म सफल हो गया।

 

 

 

2- हम सभी लोग भी अपने परिवार के साथ धन्य है और नेत्र भरकर आपका दर्शन किया। आपने बहुत ही अच्छी जगह विचारकर निवास किया है। यहां सभी ऋतु में आप सुखी रहिएगा।

 

 

 

3- हम लोग सब प्रकार से हाथी से बचाकर आपकी सेवा करेंगे। हे प्रभो! यहां के बीहड़ वन, पहाड़, गुफाये और खोह, दर्रे सब पग-पग पर हमारे देखे हुए है।

 

 

 

4- हम वहां उन स्थानों में आपको शिकार करवाएंगे और तालाब झरने आदि जलाशयों को दिखाएंगे। हम कुटुंब के साथ आपके सेवक है। अतः हे नाथ! हमे आज्ञा देने में संकोच न कीजियेगा।

 

 

 

मित्रों, यह पोस्ट Bankelal Book Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!