Advertisements

Ayurveda Gharelu Upchar Pdf / आयुर्वेदिक घरेलू उपचार Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको Ayurveda Gharelu Upchar Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Ayurveda Gharelu Upchar Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से स्वदेशी चिकित्सा पार्ट 2 Pdf Download कर सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

 

Ayurveda Gharelu Upchar Pdf / आयुर्वेदिक घरेलू उपचार पीडीएफ

 

 

 

वेदो में आयुर्वेद पीडीऍफ़ डाउनलोड

 

Advertisements
Ayurveda Gharelu Upchar Pdf
Ayurveda Gharelu Upchar Pdf
Advertisements

 

आयुर्वेद प्रकाश पीडीऍफ़ डाउनलोड

 

आयुर्वेद चिकित्सा प्रकाश पीडीऍफ़

 

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

सद्गुणों को पहचानने वाला गुणवान तथा बड़भागी वही है जो श्री रघुनाथ जी के चरणों में प्रेम करने वाला हो। आज्ञा मांगकर और चरणों में सिर नवाकर श्री रघुनाथ जी का स्मरण करते हुए सब हर्षित होकर चले।

 

 

 

 

सबसे पीछे पवनसुत हनुमान जी ने सिर नवाया। कार्य का विचार करके प्रभु ने उन्हे अपने पास बुलाया। उन्होने अपने कर कमलो से उनके सिर का स्पर्श किया तथा अपना सेवक जानकर उन्हें अपने हाथ की अंगूठी उतार कर दिया।

 

 

 

 

और कहा – बहुत प्रकार से सीता को समझाना और मेरा बल तथा विरह कहकर तुम शीघ्र ही लौट आना। हनुमान जी ने अपना जन्म सफल समझा और कृपानिधान प्रभु को अपने हृदय में धारण करके चले।

 

 

 

 

यद्यपि देवताओ की रक्षा करने वाले प्रभु सब बात जानते है तो भी वह राजनीती की रक्षा कर रहे है। नीति की मर्यादा की रक्षा करने के लिए जहां-तहां वानरों को भेज रहे है।

 

 

 

 

23- दोहा का अर्थ-

 

 

 

सब वानर नदी तालाब और पर्वत की कंदराओं में ढूंढते हुए चले जा रहे है। उनका मन श्री राम जी के कार्य में लगा हुआ है। उन्हें अपने शरीर की सुधि भी नहीं है।

 

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

कही किसी राक्षस से भेट होने पर उसे परलोक भेज  देते है। पर्वतो और वनो को बहुत प्रकार से ढूंढ रहे है। यदि कोई मुनि मिल जाता है तो सब पता पूछने के लिए उसे घेर लेते है।

 

 

 

 

सबको अत्यंत प्यास लगी और सब व्याकुल हो गए किन्तु जल कही नहीं मिला। घने जंगल में सब भूल गए। हनुमान जी ने मन में अनुमान किया कि जल पिए बिना सब लोग बेहाल है।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Ayurveda Gharelu Upchar Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!