Advertisements

7 + Astrology Books In Hindi Pdf / 7 + ऑस्ट्रोलॉजी बुक्स इन हिंदी Pdf

Advertisements

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट में हम आपको 7 + Astrology Books In Hindi Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Astrology Books In Hindi Pdf Download कर सकते हैं और आप यहां से 5 + बेस्ट ज्योतिष बुक इन हिंदी Pdf  पढ़ सकते हैं।

 

Advertisements

 

 

 

Astrology Books In Hindi Pdf / ऑस्ट्रोलॉजी बुक्स इन हिंदी पीडीएफ

 

 

1-  नक्षत्र ज्योतिष बुक्स इन हिंदी Pdf

 

Advertisements
7 + Astrology Books In Hindi Pdf
7 + Astrology Books In Hindi Pdf
Advertisements

 

2-  अंक ज्योतिष की किताब Pdf

 

3- Vedic Astrology Books in Hindi Pdf

 

4- ज्योतिष बुक्स पीडीएफ फ्री

 

5-  हनुमान अंक Pdf Download

 

 

 

 

 

 

 

सिर्फ पढ़ने के लिए

 

 

 

तालाब में कमल खिले हुए है, जल में पक्षी बोल रहे है। भौरे गुंजायमान हो रहे है और नाना रंग के पक्षी और पशु वन में बैर रहित होकर विहार कर रहे है।

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

1- कोल किरात आदि वन में रहने वाले लोग पवित्र सुंदर और अमृत के समान सुंदर, स्वादिष्ट मधु को सुंदर पात्र में भरकर तथा कंद, मूल, फल और अंकुर आदि की जुडियां को।

 

 

 

 

2- सबको विनय और प्रणाम करके उन सभी का नाम रूप, गुण और भेद बताकर सबको देते है। सब लोग उसका मूल्य देते है लेकिन वह श्री राम की दुहाई देकर लौटा देते है।

 

 

 

 

3- प्रेम में मग्न होकर वह कोमल वाणी से कहते है कि साधु लोग प्रेम को पहचानकर उसका सम्मान करते है, आप लोग मूल्य देकर या वस्तुओ को लौटाकर हमारे प्रेम का तिरस्कार न करे आप लोग पुण्यात्मा है हम लोग तो नीच निषाद है, श्री राम जी की कृपा से ही हमे आपका दर्शन मिला है।

 

 

 

 

4- हम लोगो के लिए आपका दर्शन बहुत ही दुर्लभ है, जैसे मरुभूमि के लिए गंगा जी की धारा दुर्लभ होती है। देखिए – श्री राम जी ने निषाद के ऊपर कैसी कृपा की है। जैसे राजा है वैसा ही उनका परिवार और प्रजा भी होनी चाहिए।

 

 

 

 

250- दोहा का अर्थ-

 

 

 

 

हृदय में ऐसा जानकर संकोच छोड़कर और हमारा प्रेम देखकर कृपा कीजिए और यह फल तृण और अंकुर ग्रहण करके हमे कृतार्थ करिये।

 

 

 

 

चौपाई का अर्थ-

 

 

 

1- आप हमारे प्रिय पाहुन है तथा वन में आये है। आपकी सेवा करने के लिए हमारे भाग्य कहां है। हे स्वामी! हम आपको क्या देंगे? भीलों की मित्रता तो ईंधन लकड़ी और पत्तो तक ही है।

 

 

 

 

2- हमारी तो यही बहुत सेवा है कि हम आपके कपड़े और बर्तन नहीं चुराते है। हम लोग तो जड़ जीव है। जीवो की हिंसा करने वाले है। कुटिल, कुजाति, कुबुद्धि और कुचालि है।

 

 

 

 

मित्रों, यह पोस्ट Astrology Books In Hindi Pdf आपको कैसी लगी, कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें और इस तरह की पोस्ट के लिये इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!