108 Names of Shani Dev in Hindi / शनि देव के 108 नाम

मित्रों इस पोस्ट मे 108 Names of Shani Dev in Hindi दिया जा रहा है। आप नीचे 108 Names of Shani Dev Hindi पढ़ सकते हैं।

 

 

 

108 Names of Shani Dev in Hindi शनि देव के 108 नाम 

 

 

 

 

 

 

1. सुरवन्द्य – सबसे पूजनीय                                     

 

2. वरेण्य – सबसे उत्कृष्ट                     

 

3. सुरलोकविहारिण – सुरहस की दुनिया में भटकने वाले          

 

4. सौम्य – नरम स्वभाव वाले               

 

5. सर्वाभीष्टप्रदायिन – सभी इच्छाओ को पूरा करने वाला           

 

6. शनैश्चर – धीरे-धीरे चलने वाला         

 

7. शरण्य – रक्षा करने वाला          

 

8. सर्वेश – सारे जगत के देवता           

 

9. शांत – शांत रहने वाला           

 

10. घनाभरणधारिण – लोहे के आभूषण पहनने वाले       

 

11. मंदचेष्ट – धीरे से घूमने वाले           

 

12. सुखसानोपविष्ट – घात लगा के बैठने वाले       

 

13. घनसारविलेप – कपूर के साथ अभिषेक करने वाले        

 

14. मंद – धीमी गति वाले            

 

15. सुंदर – बहुत ही सुंदर         

 

16. घनरूप – कठोर रूप वाले         

 

17. खद्योत – आकाश की रोशनी         

 

18. घन – बहुत मजबूत                       

 

19. महनीयगुणात्मन – शानदार गुणों वाला          

 

20.निलांबरविभूशण – नीले परिधान में सजने वाले             

 

21. चरस्थिरस्वभाव – व्यवस्थित रूप से चलने वाले                   

 

22. मर्त्यपावनपद – जिनके चरण पूजनीय हो             

 

23. नीलांजननिभ – नीला रोगन में दिखने वाले           

 

24. अचंचल – कभी ना हिलने वाले           

 

25. महेश – देवो के देव          

 

26. शततूणीरधारिण – सौ तीरो को धारण करने वाले             

 

27. शर्व – पीड़ा देने वाला             

 

28. छायापुत्र – छाया का बेटा              

 

29. नित्य – अनंत एक काल तक रहने वाले            

 

30. नीलवर्ण – नीले रंग वाले         

 

31. विश्ववन्द्य –   सबके द्वारा पूजे जाने वाले           

 

32.वैराग्यद – वैराग्य के दाता             

 

33. विपत्परम्परे – दुर्भाग्य के देवता            

 

34. निश्चल – अटल रहने वाले           

 

35. विरोधाधारभूमि – जमींन की बाधाओं का समर्थन करने वाला          

 

36. वीर – अधिक शक्तिशाली             

 

37. भेदास्पदस्वभाव – प्रकृति का पृथक्करण करने वाला               

 

38. वीतरोगभय – डर और रोगो से मुक्त रहने वाले            

 

39. विधिरूप – पवित्र उपदेशो को देने वाले              

 

40. वज्रदेह – वज्र के शरीर वाला            

 

41. आपदुद्धर्त्र – दुर्भाग्य को दूर करने वाले             

 

42. कुत्सित – तुच्छ रूप वाले             

 

43. अविद्यामूलनाश – अनदेखा करने वालो का नाश करने वाला       

 

44. गृध्नवाह – गिद्ध की सवारी करने वाले             

 

45. गुणाढ्य – भरपूर गुणों वाला           

 

46. आयुष्यकारण – लंबा जीवन देने वाला            

 

47. गूढ़ – छुपा हुआ            

 

48. कुरुपिण – असाधारण रूप वाले            

 

49. विद्याविद्यास्वरूपिण – ज्ञान करने वाला            

 

50. कूर्माङ्ग – कछुए जैसे शरीर वाले          

 

51. गोचर – हर क्षेत्र पर नजर रखने वाला             

 

52. वेद्य – सब कुछ जानने वाले                     

 

53. वरदाभयहस्त – भय को दूर भगाने वाले                   

 

54. वरिष्ठ – उत्कृष्ट           

 

55. वंद्य – पूजनीय            

 

56. विष्णुभक्त – विष्णु के भक्त             

 

57. वज्राङ्कुशधर – वज्र अंकुश रखने वाले            

 

58. गरिष्ठ – आदरणीय देव             

 

59. विविधागमवेदिन – कई शास्त्रों का ज्ञान रखने वाले                

 

60. विरूपाक्ष – कई नेत्रों वाला              

 

61. वशिन – स्व – नियंत्रित करने वाले            

 

62. विधिस्तुत्य – पवित्र मन से पूजा जाने वाला            

 

63. भानु – तेजस्वी         

 

64. कष्टौघनाशकर्त्र – कष्टों को दूर करने वाले        

 

65. वामन – छोटे कद वाला             

 

66. भक्तिवश्य – भक्ति द्वारा वश में आने वाला           

 

67. ज्येष्ठापत्नीसमेत – जिसकी पत्नी ज्येष्ठ हो             

 

68. स्तोत्रगम्य – स्तुति के माध्यम से लाभ देने वाले              

 

69. श्रेष्ठ – सबसे उच्च                 

 

70. स्तुत्य – स्तुति करने योग्य           

 

71. मितभाषिण – कम बोलने वाले                    

 

72. पुष्टिद – सौभाग्य के दाता             

 

73. वशीकृतजनेस – सभी मनुष्यो के देवता             

 

74. धनुष्मत – विशेष आकार वाले               

 

75. धनुर्मण्डलसंस्था – धनु मंडल में रहने वाले       

 

76. तामस – ताम गण वाले            

 

77. भानुपुत्र – भानु के पुत्र         

 

78. पावन – पवित्र          

 

79. विशेषफलदायिन – विशेष फल देने वाले         

 

80. भव्य – आकर्षक          

 

81. धनदा – धन के दाता             

 

82. अशेषजनवन्द्य – सभी सजीव द्वारा पूजनीय            

 

83. तनुप्रकाशदेह – तन को प्रकाश देने वाले               

 

84. वंदनीय – वंदना करने योग्य          

 

85. नीलच्छत्र – नीली छतरी वाले          

 

86. निर्गुण – बिना गुण वाले              

 

87. घननीलांबर – गाढ़ा नीला वस्त्र पहनने वाले            

 

88. नित्य – लगातार             

 

89. निन्द्य – निंदा करने वाले                

 

90. खेचर – आसमान में घूमने वाले           

 

91. पशूनां पति – जानवरो के देवता                   

 

92. आर्यगणस्तुत्य – आर्य द्वारा पूजे जाने वाले               

 

93. गुणात्मन – गुणों से युक्त             

 

94. काठिन्यमानस – निष्ठुर स्वभाव वाले            

 

95. परभीतिहर – डर को दूर करने वाले                 

 

96. कामक्रोधकर – काम और क्रोध का दाता            

 

97. धीर – दृढ निश्चयी           

 

98. क्रूर – कठोर स्वभाव वाले             

 

99. कलत्रपुत्रशत्रुत्वकारण – पत्नी और बेटे की दुश्मनी              

 

100. दीनार्तिहरण – संकट दूर करने वाले              

 

101. आर्यजनगण्य – आर्य के लोग                       

 

102. परिपोषितभक्त – भक्तो द्वारा पोषित        

 

103. दिव्यदेह – दिव्य शरीर वाले                  

 

104. दैन्यनाशकराय – दुःख का नाश करने वाला           

 

105. क्रूरचेष्ट – कठोरता से दंड देने वाले        

 

106. शनि – शांत रहने वाला            

 

107. भक्तसंघमनोभीष्टफलद – भक्तो के मन की इच्छा पूरी करने वाले         

 

108. निरामय – रोग से दूर रहने वाला                 

 

 

 

108 Names of Shani Dev in English 

 

 

1. Suravandy – Sabase Pujaniy 

 

2. Wareny – Sabase Utkrisht 

 

3. Surlokvihaarin – Surhas Ki Duniya Me Bhatakne Wale 

 

4. Saumy – Naram Swbhaw Wale 

 

5. Sarvbhishtapradaayin – Sabhi Ichhaao Ko Pura Karane Wala 

 

6. Shanaishchar – Dhire- Dhire Chalane Wala 

 

7. Sharany – Raksha Karane Wala 

 

8. Sarwesh – Saare Jagat Ke Devta 

 

9. Shant – Shant Rahane Wale 

 

10. Ghanaabharanadhaarin – Lohe Ke Abhushan Pahanane wale 

 

11. Mandcheshta – Dhire Se Ghumane Wale 

 

12. Sukhasaanopawisht – Ghaat Laga Ke Baithane Wale 

 

13. Ghanasaaravilep – Kapur Ke Sath Abhishek Karane Wale 

 

14. Mand – Dhimi Gati Wale 

 

15. Sundar – Bahut Hi Sundar 

 

16. Ghanrup – Kathor Rup Wale 

 

17. Khadyot – Akash Ki Roshani 

 

18. Ghan – Bahut Majabut 

 

19. Mahaniyagunaatman – Shandar Guno wala 

 

20. Nilaabaravibhushan – Nile Paridhan Me Sajane Wale 

 

21. Charasthiraswabhaw – Vyawasthit Rup Se Chalane Wale 

 

22. Martyapaawanpad – Jinake Charan pujaniy Ho 

 

23. Nilaajnanabhi – Nila Rogan Me Dikhane Wale 

 

24. Achnchal – Kabhi Na Hilane Wale 

 

25. Mahesh – Devo Ke Dev 

 

26. Shatatuniradhaarin – Sau Tiro ko Dhaaran karane Wale 

 

27. Sharw – Pida Dene Wale 

 

28. Chhayaputr – Chhaya Ka Beta 

 

29. Nity – Anant Kaal Tak Rahane Wale 

 

30. Nilwarn – Nile Rang Wale 

 

31. Vishwavandy – Sabake Dwara Puje Jaane Wale 

 

32. Vairaagyad – Vairaagy Ke Data 

 

33. Vipatparamparesh – Durbhagy Ke Devta 

 

34. Nishchal – Atal Rahane wale 

 

35. Virodhaadhaarabhumi – Jamin Ki Badhaao Ka Samarthan Karane Wale 

 

36. Veer – Adhik Shaktishali 

 

37. Bhedaaspadaswbhaw – Prakriti Ka Prithakkaran Karane wale 

 

38. Vitarogabhay – Dar Aur Rogo Se Mukt rahane Wale 

 

39. Vidhirup – Pawitr Updesho Ko Dene wale 

 

40. Vajradeh – Vajr Ke Sharir wala 

 

41. Aapaduddhratr – Durbhagy Ko Dur Karane wale 

 

42. Kutsit – Tuchh Rup Wale 

 

43. Avidyamulnash – Andekha karane Walo Ka Naash karane Wala 

 

44. Gridhnwah – Giddh Ki Sawari Karane Wale 

 

45. Gunaadhy – Bharpur Guno Wala 

 

46. Aayushykaaran – Lmba Jiwan Dene Wala 

 

47. Gudh – Chhupa Huaa 

 

48. Kurupin – Asadharan Rup Wale 

 

49. Vidyavidyaswarupin – Gyan Karane Wale 

 

50. Kurmaang – Kachhue Jaise Sharir Wale 

 

51. Gochar – Har Kshetr Par Najar Rakhane Wale 

 

52. Vedy – Sab Kuchh Janane Wale 

 

53. Wardaabhayahast – Bhay Ko Dur Bhagaane Wale 

 

54. Warishth – Utkrisht 

 

55. Vandy – Pujaniy 

 

56. Vishnubhkt – Vishnu Ke Bhakt 

 

57. Vajraankushadhar – Vajr Ankush Rakhane Wale 

 

58. Garishth – Aadaraniy Dev

 

59. Vividhaagamvedin – Kai Shaastro Ka Gyan Rakhane Wale 

 

60. Virupaksh – Kai Netro Wale 

 

61. Vashin – Sw- Niyantrit Karane Wale 

 

62. Vidhistuty – Pawitr Man Se Puja Jaane Wala

 

63. Bhanu – Tejaswi 

 

64. Kashtaughanaashakaratr – Kashto ko Dur Karane Wale 

 

65. Waaman – Chhote Kad Wala 

 

66. Bhaktiwashy – Bhakti Dwara Vash Me Aane Wale 

 

67. Jyeshthaapatnisamet – Jisaki Patni Jyeshth Ho 

 

68. Stotragamy – Stuti Ke Maadhyam Se Laabh Dene Wale 

 

69. shreshth – Sabase Uchh 

 

70. Stuty – Stuti Karane Yogy 

 

71. Mitabhashin – Kam Bolane Wale 

 

72. Pushtid – Saubhaagy Ke Data 

 

73. Washikritjanes – Sabhi Manushyo Ke Devata 

 

74. Dhanushmt – Vishesh Aakar wale

 

75. Dhanurmndalasnstha – Dhanu Mandal Me Rahane Wale 

 

76. Taamas – Taam Gan Wale 

 

77. Bhaanuputr – Bhaanu Ke Putr 

 

78. Paawan – Pavitr 

 

79. Visheshafaldaayak – Vishesh Fal Dene Wale 

 

80. Bhavy – Aakarshak 

 

81. Dhanadaa – Dhan Ke Data 

 

82. Asheshajanavandy – Sabhi Sajivo Dwara Pujaniy 

 

83. Tanuprakashadeh – Tan ko Prakash Dene Wale 

 

84. Vandaniy – Vandana Karane Yogy 

 

85. Nilchachhatr – Nili Chhatari Wale 

 

86. Niragun – Bina Gun Wale 

 

87. Ghananilaambar – Gadha Nila Wastr Pahanane Wale 

 

88. Nity – Lagatar 

 

89. Nindy – Nindaa Karane Wale 

 

90. Khechar – Aasman Me Ghumane Wale 

 

91. Pashunaan Pati – Jaanawaro Ke Devata 

 

92. Aaryganastuty – Aary Dwara Puje Jaane Wale 

 

93. gunaatman – Guno Se Yukt 

 

94. Kaathinyamaanas – Nishthur Swbhaw Wale 

 

95. Paribhitihar – Dar Ko Dur Karane Wale 

 

96. Kaamakrodhakar – Kaam Aur Krodh Ka Data 

 

97. Dhir – Dridh Nishchayi 

 

98. Krur – Kathor Swabhaw Wale 

 

99. Kalatraputrashatrutwakaaran – Patni Aur Bete Ki Dushamani 

 

100. Dinaartiharan – Sankat Dur Karane Wale 

 

101. Aaryajangany – Aary Ke Log 

 

102. Pariposhitabhakt – Bhakto Dwara Poshit 

 

103. Divyadeh – Divy Sharir Wale 

 

104. Dainyanaashakaraay – Dukh Ka Naash Karane Wala 

 

105. Krurachesht – Kathorata Se Dand Dene Wale 

 

106. Shani – Shaant Rahane Wala 

 

107. Bhaktasanghamanobhishtafalad – Bhakto Ke Man Ki Ichha Puri Karane Wale 

 

108. Niraamay – Rog Se Dur Rahane Wala 

 

 

 

गीता सार सिर्फ पढ़ने के लिए 

 

 

 

 

इन्द्रियों को किसी न किसी कार्य में लगे रहना चाहिए यदि वह भगवान की दिव्य प्रेमाभक्ति में नहीं लीन रहेगी तो वह निश्चय ही भौतिकतावाद में लगना ही चाहेगी। इस भौतिक जगत में हर एक प्राणी इन्द्रिय विषयो के ही अधीन रहता है। यहां तक कि ब्रह्मा तथा शिव जी भी। तो स्वर्ग के अन्य देवताओ के विषय में क्या कहा जा सकता है।

 

 

 

शिव जी ध्यानमग्न थे जब पार्वती ने विषय भोग के लिए शिव जी को उत्तेजित किया तो वह सहमत हो गए जिसके फलस्वरूप ही कार्तिकेय का जन्म हुआ। इसी प्रकार से तरुण भगवद्भक्त हरिदास ठाकुर को मायादेवी के अवतार ने मोहित करने का प्रयास किया था किन्तु विशुद्ध कृष्ण भक्ति के कारण ही वह इस कसौटी में खरे उतर पाए थे। जैसा कि यामुनाचार्य के श्लोक में बताया जा चुका है।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट 108 Names of Shani Dev in Hindi आपको कैसी लगी जरूर बताएं और इस तरह की दूसरी पोस्ट के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

 

इसे भी पढ़ें —->सूर्य देव के 108 नाम जाने

 

 

Leave a Comment

स्टार पर क्लिक करके पोस्ट को रेट जरूर करें।